Home » राजस्थान » Jodhpur: Big day for Salman Khan Court to pronounce verdict in arms act case related to black buck poaching
 

सलमान ख़ान के लिए फ़ैसले की घड़ी: 18 साल पुराने आर्म्स एक्ट केस में आएगा आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2017, 9:41 IST

बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के लिए आज बड़ा दिन है. जोधपुर की कोर्ट में काला हिरण शिकार से जुड़े आर्म्स एक्ट केस में बुधवार को फैसला सुनाया जाएगा.

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (जोधपुर जिला) दलपत सिंह राजपुरोहित आज सलमान खान की मौजूदगी में फैसला सुनाने जा रहे हैं. अभिनेता सलमान खान पर लाइसेंस की मियाद पूरी होने के बाद अवैध हथियार से शिकार करने का आरोप है. इस मामले में 18 साल तक चली सुनवाई के बाद ट्रायल पूरा हुआ है.

सलमान अपनी बहन अलवीरा के साथ मंगलवार शाम को ही जोधपुर पहुंच गए थे. सीजेएम जोधपुर दलपत सिंह राजपुरोहित 9 जनवरी को अभियोजन और बचाव पक्ष की बहस पूरी होने के बाद फैसला सुनाने के लिए 18 जनवरी की तारीख तय की थी. 

अवैध हथियार से शिकार का आरोप

1998 में जोधपुर में अपनी फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर तीन अलग-अलग जगहों पर हिरण का शिकार करने का आरोप लगा.

इस मामले में उनकी गिरफ्तारी हुई और उनके होटल के कमरे से पुलिस ने 22 सितम्बर 1998 को रिवॉल्वर .32 और .22 बोर राइफल बरामद की. चूंकि लाइसेंस की मियाद खत्म हो चुकी थी इसलिए सलमान पर आर्म्स एक्ट लगा. 

पढ़ें: हाईकोर्ट: काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान निर्दोष

वन अधिकारी ललित बोड़ा ने लूणी पुलिस थाने में 15 अक्टूबर, 1998 को मुकदमा दर्ज करवाया था कि सलमान खान ने 1-2 अक्टूबर 1998 की मध्यरात्रि में कांकाणी गांव की सरहद पर दो काले हिरणों का शिकार किया. आरोप है कि शिकार करते हुए उन्होंने अपने रिवॉल्वर और राइफल का इस्तेमाल किया.

दोनों हथियारों की लाइसेंस की मियाद खत्म हो चुकी थी. सलमान पर आर्म्स एक्ट की धारा 3/25 और 27 में केस दर्ज किया गया था. ट्रायल के दौरान कुल 20 लोगों ने गवाही दी. 

काला हिरण शिकार मामला

इससे पहले राजस्थान हाईकोर्ट ने पिछले साल 25 जुलाई को काला हिरण शिकार से जुड़े दो मामलो में सलमान को बरी कर दिया था. घोड़ा फार्म हाउस मामले में सलमान को पांच साल कैद और भवाद केस में एक साल कैद की सजा मिली थी. 

हाई कोर्ट ने मामले में राज्य सरकार की अर्जी खारिज कर दी और सलमान को बरी कर दिया. कोर्ट ने दोनों ही मामलों को गलत पाया. जिन लोगों को गवाह बनाया गया उनमें से कोई कभी पेश नहीं हुआ. इसमें जिप्सी का ड्राइवर भी शामिल है. 

पढ़ें: सलमान ने ही काले हिरण का शिकार किया था, गवाह दुलानी का दावा

हिरण शिकार का तीसरा केस कंकाणी गांव में 1-2 अक्टूबर 1998 की रात दो काले हिरणों के शिकार का है. ये मामला आर्म्स एक्ट में अतिरिक्त अभियोग लगने की वजह से जुलाई 2012 तक लंबित रहा.  

सलमान खान पर हिरण शिकार मामले में कुल चार केस दर्ज हुए. मथानिया और भवाद में दो चिंकारा के शिकार के दो अलग-अलग मामले, कांकाणी में हिरण शिकार मामला और लाइसेंस समाप्त हो जाने के बाद भी रायफल रखने (आर्म्स एक्ट) का आरोप.

First published: 18 January 2017, 9:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी