Home » राजस्थान » Rajasthan Political Crisis : Income Tax Department Raids In Jaipur And Delhi In The Case Of Tax Evasion
 

Jaipur Income Tax Raid : राजस्थान में कांग्रेस के सियासी संकट के बीच इनकम टैक्स विभाग की कई जगहों पर छापेमारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2020, 12:49 IST

Income tax raid in Jaipur: राजस्थान में कांग्रेस के अंदर चल रही कलह के बीच सीएम अशोक गहलोत के निवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक चल रही है. इस बैठक में लगभग 100 विधायकों के मौजूद होने की खबर है. इस बीच ANI के अनुसार ''आयकर विभाग राजस्थान, दिल्ली और महाराष्ट्र में कई जगहों पर सर्च कर रहा है. जयपुर, कोटा, दिल्ली और मुंबई में सर्च चल रही हैं. आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि ये सर्च टैक्स चोरी की शिकायत पर की जा रही हैं''. खबर है कि आयकर विभाग ने राजस्थान में कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौर और राज्य कांग्रेस कार्यालय के सदस्य राजीव अरोड़ा के कार्यालय और आवास पर भी छापेमारी की है. मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी इनकम टैक्स, ईडी और सीबीआई जैसी संस्थाओं का इस्तेमाल करती आयी है.

सुरजेवाला ने कहा ''भाजपा के 3 अग्रिम विभाग हैं आयकर विभाग, ED, CBI, जब भी मोदी सरकार,भाजपा को प्रजातंत्र की हत्या करनी होती है तो भाजपा के ये विभाग सबसे पहले आगे आकर खड़े हो जाते हैं. कल देर रात और आज सुबह से ये विभाग फिर से राजस्थान की वीरभूमि पर कायरता दिखाने के लिए उतर आए हैं''. राज्य में पार्टी के सियासी संकट पर रणदीप सुजरेवाला ने कहा ''मैं सभी कांग्रेस विधायकों से अपील करता हूं कि लोगों ने राज्य में स्थिर सरकार का नेतृत्व करने के लिए कांग्रेस को वोट दिया है, इसलिए सभी विधायकों को आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भाग लेना चाहिए और राज्य में हमारे सरकार को मजबूत बनाना चाहिए''. उन्होंने कहा पिछले 48 घंटों में, कांग्रेस नेतृत्व ने वर्तमान राजनीतिक स्थिति के बारे में सचिन पायलट से कई बार बात की है. सुरजेवाला ने कहा ''यदि कोई भी, किसी भी पद या प्रोफाइल पर है, तो कोई समस्या है, उन्हें आगे आना होगा और पार्टी फोरम पर बात रखनी होगी.''


सुरजेवाला ने मीडिया के सवालों के जवाब में कहा ''मैं स्पष्ट रूप से बताना चाहता हूं कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार स्थिर है और हम पूरा कार्यकाल पूरा करेंगे. राज्य में हमारे सरकार को गिराने में भाजपा की कोई भी साजिश सफल नहीं होगी.'' 

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा ''मैंने उनसे(सचिन पायलट)बात करने की कोशिश की और मैसेज भी भेजे लेकिन उन्होंने अब तक जवाब नहीं दिया. वह पार्टी से ऊपर नहीं हैं. पार्टी उनकी बात सुनने को तैयार है लेकिन कोई अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी. मुझे उम्मीद है कि वह बैठक के लिए आएंगे''. इससे पहले रविवार देर रात को कांग्रेस पार्टी ने एक व्हिप जारी कर कहा था कि विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होने वाले विधायकों पर कार्रवाई की जाएगी.

 

राजस्थान प्रभावी अविनाश पांडे ने मीडिया से कहा कि 109 से ज्यादा विधायकों ने एक पत्र पर हस्ताक्षर कर गहलोत के साथ होने का दावा किया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सचिन पायलट आज नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं. पायलट ने दावा किया था कि कांग्रेस के 30 विधायक उनके साथ हैं. रिपोर्ट के अनुसार इस तरह प्रदेश में तीसरे मोर्चे का गठन किया जा सकता है.

Rajasthan: कांग्रेस मुख्यालय से निकाले गए सचिन पायलट के पोस्टर, पार्टी से निकाले जाने की अटकलें तेज

आज छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा ''सचिन पायलट अब भारतीय जनता पार्टी में हैं. और बीजेपी का कांग्रेस पार्टी के प्रति क्या रवैया रहता है ये सभी को पता है. हमें भाजपा से प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है. कांग्रेस पार्टी में सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं का सम्मान किया जाता है''. हालांकि उन्होंने बाद में सफाई देते हुए कहा कि ''वीडियो में यह स्पष्ट है कि सिंधिया जी के बारे में सवाल पूछा गया था और मेरा जवाब सिंधिया के बारे में था, जुबान फिसलने से मैंने सिंधिया के बजाय सचिन पायलट का नाम ले लिया''.

राजस्थान : क्या सिंधिया की राह चलेंगे पायलट, गहलोत के पास कितने MLA, BJP को कितनी जरूरत

First published: 13 July 2020, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी