Home » राजस्थान » Rajasthan: class 8 reference book calls father of terrorism to freedom fighter Bal Gangadhar Tilak
 

विवाद: राजस्थान की किताब में बाल गंगाधर तिलक को पढ़ाया जा रहा 'आतंक का जनक'

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 May 2018, 9:05 IST

भाजपा शासित राज्य राजस्थान में समय-समय पर इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने और किताबों में बदलाव को लेकर विवाद उत्पन्न होते रहते हैं. ताजा विवाद स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक के अपमान को लेकर सामने आया है. राजस्थान में स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को अंग्रेजी मीडियम के 8वीं कक्षा के छात्रों की एक किताब में 'आतंकवाद का जनक’ बताया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राजस्थान की अंग्रेजी माध्यम के एक निजी स्कूल के कक्षा आठवीं की किताब में बाल गंगाधर तिलक का आतंकवाद का जनक बताया गया है. तिलक को कक्षा आठवीं की सामाजिक विज्ञान की किताब में आतंक का जनक लिखा गया है. जिसके बाद बवाल पैदा हो गया है. राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने इसे देश का अपमान बताया है.

 

आश्चर्य की बात यह है कि यह स्कूल राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त है. राजस्थान राज्य पाठ्यक्रम बोर्ड किताबों को हिंदी में प्रकाशित करता है इसलिए बोर्ड से मान्यता पाए अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के लिए मथुरा के एक प्रकाशक की संदर्भ पुस्तक का इस्तेमाल होता है.

किताब में तिलक के बारे में 18वीं और 19वीं शताब्दी के राष्ट्रीय आंदोलन के संदर्भ में लिखा गया है. इसी पुस्तक के अध्याय 22 और पेज संख्या 267 पर तिलक के बारे में लिखा गया है कि उन्होंने राष्ट्रीय आंदोलन का रास्ता दिखाया था, इसलिए उन्हें 'आतंकवाद का जनक' कहा जाता है.

 हालांकि जब यह खबर फैली और इस पर विवाद हुआ तो किताब के प्रकाशक ने सफाई दी और इसे अनुवाद की गलती बताया. मथुरा के प्रकाशक स्टूडेंट अडवाइजर पब्लिकेशन प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारी राजपाल सिंह ने इसे गलती बताते हुए कहा कि संसोधित प्रकाशन में इसे सुधार दिया गया है. 

पढ़ें- कोलेजियम में सरकार के फैसले को झटका, फिर भेजा जाएगा जस्टिस जोसेफ का नाम

सोशल मीडिया में भी लोगों ने इस किताब के पन्ने को वायरल कर दिया है और चैप्टर को हटाने की मांग की है.

First published: 12 May 2018, 8:59 IST
 
अगली कहानी