Home » राजस्थान » Rajasthan: Congress MLAs shift in hotel, 107 MLAs present in meeting
 

राजस्थान : मीटिंग के बाद गहलोत के साथ होटल में शिफ्ट किये गए कांग्रेस विधायक, कहा- ऑल इज वेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2020, 16:33 IST

राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच सरकार का बहुमत साबित करने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निवास पर 100 से अधिक विधायक पहुंचे. इस बैठक में सचिन पायलट उपस्थित नहीं हुए. हालांकि कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के लिए पार्टी के दरवाजे खुले है. सचिन पायलट ने दावा किया था कि राज्य की 200 सदस्यीय विधानसभा में 30 से अधिक पार्टी विधायकों का समर्थन उनके साथ है. इससे पहले दिन कांग्रेस ने विधायक दल की बैठक में सभी की उपस्थिति को अनिवार्य करते हुए अपने सभी विधायकों को व्हिप जारी किया था.

ANI के अनुसार कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 107 विधायक उपस्थित थे. कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक संपन्न होने के बाद सभी विधायक बस में सवार होकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास से निकले. इस दौरान विधायकों ने ऑल इज़ वेल कहा और विक्ट्री  साइन दिखाया. बैठक में गहलोत सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा ‘‘सरकार को कोई खतरा नहीं है. हमें 109 से ज्यादा विधायकों का समर्थन है. जिन विधायकों को भाजपा द्वारा जबरन रोका जा रहा है, वे वीडियो बनाएं और शेयर करें. राजस्थान में कांग्रेस सरकार अपने 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी. '’


विधायक होटल भेजे गए

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अशोक गहलोत के आवास पर बैठक समाप्त होने की बाद वहां मौजूद सभी विधायकों को चार बसों से सीधे माउंट फेयर होटल भेज दिया गया है. इन विधायकों के साथ अशोक गहलोत भी मौजूद हैं. 

इस बीच आज आयकर विभाग ने जयपुर में छापेमारी की. यह सर्च टैक्स चोरी की शिकायत पर की जा रही हैं. खबर है कि आयकर विभाग ने राजस्थान में कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौर और राज्य कांग्रेस कार्यालय के सदस्य राजीव अरोड़ा के कार्यालय और आवास पर भी छापेमारी की है. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सुरजेवाला ने कहा ''भाजपा के 3 अग्रिम विभाग हैं आयकर विभाग, ED, CBI, जब भी मोदी सरकार,भाजपा को प्रजातंत्र की हत्या करनी होती है तो भाजपा के ये विभाग सबसे पहले आगे आकर खड़े हो जाते हैं. कल देर रात और आज सुबह से ये विभाग फिर से राजस्थान की वीरभूमि पर कायरता दिखाने के लिए उतर आए हैं''.

राज्य में पार्टी के सियासी संकट पर रणदीप सुजरेवाला ने कहा ''मैं सभी कांग्रेस विधायकों से अपील करता हूं कि लोगों ने राज्य में स्थिर सरकार का नेतृत्व करने के लिए कांग्रेस को वोट दिया है, इसलिए सभी विधायकों को आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भाग लेना चाहिए और राज्य में हमारे सरकार को मजबूत बनाना चाहिए''. उन्होंने कहा पिछले 48 घंटों में, कांग्रेस नेतृत्व ने वर्तमान राजनीतिक स्थिति के बारे में सचिन पायलट से कई बार बात की है. सुरजेवाला ने कहा ''यदि कोई भी, किसी भी पद या प्रोफाइल पर है, तो कोई समस्या है, उन्हें आगे आना होगा और पार्टी फोरम पर बात रखनी होगी.''

Sachin Pilot Political Career: 26 की उम्र में सासंद और फिर केंद्रीय मंत्री, कुछ ऐसा है सचिन पायलट का सियासी करियर

क्या है विधानसभा की स्थिति

राजनीतिक संकट बढ़ने के साथ कांग्रेस पार्टी ने अजय माकन और रणदीप सुरजेवाला को रविवार को जयपुर रवाना किया था. अविनाश पांडे ने राज्य की स्थिति पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक रिपोर्ट सौंपी थी. राजस्थान 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 107 विधायक हैं और उसे 13 निर्दलीय और एक राष्ट्रीय लोकदल के विधायक का समर्थन प्राप्त है. कुल मिलाकर कांग्रेस 121 विधयकों का समर्थन है. राज्य में भाजपा के पास 72 एमएलए हैं, इसकी सहयोगी आरएलपी में तीन हैं और एक निर्दलीय विधायक शामिल है. भाजपा को राज्य में बहुमत के लिए 29 विधायकों की जरूरत है.

Rajasthan Political Crisis: जब एक हवलदार की मदद से अशोक गहलोत ने राजस्थान के मुख्यमंत्री का किया था काम तमाम

 

First published: 13 July 2020, 16:11 IST
 
अगली कहानी