Home » राजस्थान » Rajasthan: Gehlot's pilots would be hard-pressed like the new generation did if we worked well
 

राजस्थान : गहलोत का पायलट पर तंज- नई पीढ़ी की हमारी तरह रगड़ाई हुई होती तो अच्छे से काम करते

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2020, 16:24 IST

Rajasthan Congress Crisis: राजस्थान में कांग्रेस के भीतर छिड़ी आंतरिक लड़ाई के बीच राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने आज कहा कि AICC ने राजस्थान की सभी जिला कांग्रेस समितियों और ब्लॉक कांग्रेस समितियों को तत्काल प्रभाव से भंग करने का निर्णय लिया है. नई समितियों के गठन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी. सचिन पायलट के साथ विवाद को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज कहा कि होर्स ट्रेडिंग की गई है हमारे पास प्रूफ है. कैसे उनके दलाल लोगों ने काम किया. पैसा ऑफर कर रहे थे पर कई लोगों ने लिया नहीं, वो प्रूफ भी मेरे पास है वो मेरे साथ बैठे लोग हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार गहलोत सरकार फ्लोर टेस्ट के लिए जल्द ही विधानसभा का सत्र बुला सकती है. भाजपा नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का कहना है कि पायलट समर्थक विधायकों को स्पीकर का नोटिस भेजना सही नहीं है. उन्होंने कहा कि व्हिप सिर्फ विधानसभा में लागू होता है. पार्टी बैठकों में लागू नहीं होता है''. इस बीच गहलोत ने आज सचिन पायलट पर भी तंज कसा.


गहलोत ने कहा ''हम तो तीसरी बार मुख्यमंत्री बन गए, 40 साल राजनीति करते हो गए. ये जो नई पीढ़ी आई है, हम उन्हें प्यार करते हैं. आने वाला कल उनका है. 40 साल पहले की जो लीडरशिप थी उसकी खूब रगड़ाई हुई थी, फिर भी आज जिंदा है. अगर इनकी और रगड़ाई हुई होती तो और अच्छे से काम करते''. राजस्थान के सीएम ने कहा ''10 दिन के लिए हमें लोगों को जयपुर में होटल में रखना पड़ा था. अगर उस वक्त हम होटल में नहीं रखते तो जो आज मानेसर में हो रहा है वो उस वक्त हो रहा होता''.

इस बीच कांग्रेस पार्टी ने हाल ही में कांग्रेस विधायक दल की बैठकों में शामिल न होने के लिए वल्लभनगर, उदयपुर से विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के आवास पर नोटिस लगाया है. उन्हें 2 दिन के भीतर नोटिस का जवाब देना है. राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने आज साफ किया कि वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. राजस्थान कांग्रेस ने मंगलवार को पायलट पर कार्रवाई करते हुए उन्हें कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष पद से भी हटा दिया था. आज पायलट ने कहा उनकी लड़ाई मुख्यमंत्री पद की नहीं बल्कि आत्मसमान की थी.

सचिन पायलट ने कांग्रेस के खिलाफ भाजपा के साथ मिलीभगत से भी इनकार किया. पायलट ने आज के लिए निर्धारित अपनी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी रद्द कर दिया है. मंगलवार को कांग्रेस ने पायलट के साथ खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश मीणा और पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह पर कार्रवाई करते हुए उन्हें मंत्रिमंडल से हटा दिया था. राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को राजस्थान में नया कांग्रेस प्रमुख बनाया गया है.

राजस्थान कांग्रेस विवाद : BJP में नहीं जा रहा हूं, न ही किसी नेता से हुई मुलाकात- सचिन पायलट

First published: 15 July 2020, 16:24 IST
 
अगली कहानी