Home » राजस्थान » Vasundhara Raje's first reaction to the political crisis of Rajasthan, a direct target on Congress
 

राजस्थान के सियासी संकट पर आयी वसुंधरा राजे की पहली प्रतिक्रिया, कांग्रेस पर साधा निशाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2020, 16:27 IST

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य की सबसे बड़ी भाजपा नेता वसुंधरा राजे सिंधिया ने शनिवार को राजस्थान में चल रहे सरकारी संकट पर अपने विचार व्यक्त किए और कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि राजस्थान की जनता कांग्रेस के आंतरिक कलह की कीमत चुका रही है. संकट शुरू होने के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया देते राजे ने ट्वीट किया “ऐसे समय में जब हमारे प्रदेश में कोरोना से 500 से अधिक मौतें हो चुकी है और करीब 28 हजार लोग संक्रमित हैं. ऐसे समय में जब टिड्डी जब हमारे किसानों के खेतों पर लगातार हमले कर रही है. ऐसे समय में जब हमारी महिलाओं के खिलाफ अपराध ने सीमाएं लांघ दी हैं. ऐसे समय पर जब प्रदेशभर में बिजली की समस्या चरम पर है. ऐसे में कांग्रेस, भाजपा और भाजपा नेतृत्व पर दोष लगाने का प्रयास कर रही है''.

 

इससे पहल आज बीजेपी ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर राजस्थान में सामने आये फोन रिकॉर्ड की जांच की मांग की. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा ''''राजस्थान में कांग्रेस पार्टी का जो ड्रामा चल रहा है ये षड्यंत्र, झूठ-फरेब और किस तरह से कानून को ताक पर रख कर काम किया जाता है इन सबका मिश्रण है''. उन्होंने कहा ''हम कांग्रेस पार्टी और राजस्थान सरकार से पूछना चाहते हैं कि क्या अधिकारिक रूप से फोन टैपिंग की गई? अगर फोन टैपिंग की गई है तो क्या ये एक संवेदनशील और कानूनी मुद्दा नहीं है? क्या फोन टैपिंग के स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर(SOP) का पालन किया गया?'' 


राजस्थान: मायावती का हमला- CM गहलोत ने फोन टेप कराकर किया गैर-कानूनी काम, लगे राष्ट्रपति शासन

वसुंधरा पर लगाया था गंभीर आरोप 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) के प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने राजे पर बड़ा आरोप लगाया था. हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार को बचाने का आरोप लगाया. बेनीवाल ने कहा "कांग्रेस विधायकों के करीबी रिश्तेदारों ने हमें बताया कि वे शुरू में पायलट के साथ थे, लेकिन वसुंधरा राजे ने उन्हें फोन किया और उन्हें पायलट से दूरी बनाने के लिए कहा."

एक ट्वीट में बेनीवाल ने कहा ''सीकर और नागौर के जाट विधायकों को राजे ने सचिन पायलट से दूरी बनाने को कहा है, जिसके पुख्ता प्रमाण हमारे पास हैं''. एक अन्य ट्वीट में बेनीवाल ने कहा कि पूर्व सीएम वसुंधरा राजे अशोक गहलोत सरकार को बचाने की पुरजोर कोशिश कर रही हैं. राजे ने कई कांग्रेसी विधायकों को फोन भी किये हैं. इससे पहले एक इंटरव्यू में सचिन पायलट ने भी गहलोत पर बंगला खाली करने के मामले में वसुंधरा की मदद का आरोप लगाया था.

क्या राजस्थान सरकार कर रही है नेताओं की फोन टैपिंग, CBI करे इसकी जांच- BJP

First published: 18 July 2020, 16:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी