Home » धर्म » Akshaya Tritiya 2020 Date: Know Here Akshaya Tritiya Muhurat, Puja Vidhi, Timing, and Importance
 

Akshaya Tritiya 2020: जानिए कब मनाई जाएगी अक्षय तृतीया, क्या है शुभ मुहूर्त और महत्व

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2020, 8:07 IST

Akshaya Tritiya 2020 Muhurat: हमारा देश तीज-त्योहारों का देश कहा जाता है, जहां हर दिन कोई न कोई त्योहार मनाजा जाता है. इन्हीं में से एक है अक्षय तृतीया (Akshya Tritiya) का त्योहार. हिंदू कलैंडर (Hindu Calendar) के मुताबिक ये त्योहार (Festival) हर साल वैशाख माह के शुक्ल पक्ष (Shukla Paksha) की तृतीया तिथि को मनाया जाता है. इस साल ये तिथि 26 अप्रैल (26th April) यानी आने वाले रविवार को मनाया जाएगा.

ज्योतिशाचार्यों के मुताबिक, इस साल अक्षय तृतीया के दिन बिना कोई मुहूर्त देखे किसी भी शुभ कार्य का शुरु किया जा सकता है. यही नहीं इस दिन किए गए हर शुभ कार्य का पूरा फल मिलता है. इसी के चलते हमारे देश में शादियां, गृह प्रवेश समेत अन्य मंगल कार्य तथा धार्मिक अनुष्ठान इसी दिन करना शुभ माना जाता है. इसके साथ ही कोई व्यापार या नया काम भी करना हो तो इस दिन बिना मुहूर्त निकाले शुरू किया जा सकता है, हालांकि इस बार कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण सब बंद है और ये आयोजन नहीं हो पा रहे हैं, इसलिए इस साल आप अपने घर पर रह कर ही अक्षय तृतीया की पूजा कर सकते हैं.


घर पर भूलकर भी न लगाएं ये चीजें, वास्तु के हिसाब से होता है अशुभ

अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए पूजा की जाती है. इस बार लॉकडाउन के चलते आप घर पर रहकर ही मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना कर सकते हैं. ऐसी मान्यता है कि लक्ष्मीजी की प्रतिमा को कच्चे दूध से स्नान करवाकर केसर, कुमकुम से उनका पूजन करनी चाहिए और यदि गंगाजल है तो उसका भी उपयोग किया जा सकता है. मां लक्ष्मी की पूजा के दौरान 'ऊं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद महालक्ष्मयै नम:" मंत्र का जाप करना चाहिए.

लॉकडाउन में शनि को शांत करने के लिए करें इस पौधे की पूजा, यज्ञ करने से समाप्त होगा कोरोना का असर

ये है अक्षय तृतीया की तिथि

इस बार अक्षय तृतीया की तिथि 25 अप्रैल सुबह 11:50 बजे से अगले दिन यानी 26 अप्रैल दोपहर 1:21 बजे तक रहेगी.

घर को बुरी नजर बचाने के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स, नेगेटिविटी रहेगी दूर!

अक्षय तृतीया पर बन रहा ये खास योग

इस बार अक्षय तृतीया पर खास योग बन रहा है. बता दें कि हिन्दू मान्यताओं के मुताबिक, इस साल अक्षय तृतीया पर रोहिणी नक्षत्र बन रहा है जिसे बहुत शुभ माना जाता है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस अक्षय तृतीया के दिन सूर्योदय के समय शंख, नीचभंग, पर्वत योग, अमला, रूचक और शश योग बन रहे हैं. साथ ही दिन में महादीर्घायु और दान योग बन रहे हैं. ये योग सूर्य, मंगल, गुरु, बुध और शनि ग्रह के कारण बन रहे हैं.

सुबह जल्दी उठकर ये काम करने से घर में आएगी सुख-समृद्धि

बता दें कि हर साल अक्षय तृतीया और परशुराम जयंती (Parshuram Jayanti) एक ही दिन मनाई जाती है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो रहा है. इस बार परशुराम जयंती और अक्षय तृतीया विभिन्न पंचागों में अलग-अलग दिन मनाई जाएगी. इनमें 25 अप्रैल को परशुराम जयंती और अगले दिन यानी 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया का त्योहार मनाया जाएगा.

Ambedkar Jayanti 2020: बाबा साहब अंबेडकर के बारे में ये बातें नहीं जानते होंगे आप

पैसों की किल्लत दूर करने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन करें ये उपाय, मिलेगा अचूक फायदा

First published: 22 April 2020, 13:11 IST
 
अगली कहानी