Home » धर्म » Diwali 2018 : These Countries Also Celebrates Diwali Festival With Amazing Way
 

भारत ही नहीं इन देशों में भी मनाई जाती है दीपावली, हिंदुस्तान से अनोखा होता है मनाने का अंदाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2018, 13:54 IST

आज पूरा देश दीपावली मना रहा है. चारों और खुशियां फैली हुई हैं. शाम होते है हर जगह रंगों से सराबोर हो जाएगी. लेकिन क्या आप ही जानते हैं हमारे देश में ही नहीं बल्कि दुनिया के अन्य देशों में भी मनाई जाती है. बता दें कि दुनिया में कई ऐसे देश हैं जहां रौशनी का त्योहार यानि दिवाली मनाई जाती है. आज हम आपको ऐसे ही कुछ देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां दिवाली का त्बयोहार मनाया जाता है. लेकिन इन देशों में इस त्योहार को अलग ढंग से मनाया जाता है. यानि हमारे देश की तरह नहीं.

तो चलिए आपको बताते हैं कि दिवाली का त्योहार कहां-कहां मनाया जाता है. दीपावली का त्योहार श्रीलंका, म्यामांर, थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फिजी, मॉरीशस, केन्या, तंजानिया, दक्षिण अफ्रीका, गुयाना, सूरीनाम, त्रिनिदाद और टोबैगो, नीदरलैंड्स, कनाडा, ब्रिटेन और अमेरिका में मनाया जाता है.

बता दें कि कई देशों में दीपावली की तर्ज पर ही फायर फेस्टिवल मनाया जाता है. जिसे हर देश में अलग-अलग नामों से जाना जाता है. साथ ही इनके मनाने की मान्यताएं भी अलग ही हैं.

हमारे देश के बाहर दिवाली का सेलिब्रेशन सबसे ज्यादा ब्रिटेन के जंगलों से घिरे शहर लेस्टर में होता है. यहां रहने वाले हिंदू , जैन और सिख समुदाय के लोक दिवाली को धूमधाम से मनाते हैं. यही नहीं यहां रहने वाले अन्य समुदाय के लोग भी दीवापली की खुशिया मनाते हैं. यहां दिवाली के दिन लोग पार्कों में और स्ट्रीट पर समूह में इकट्ठे होते हैं और अपने रिश्तेदार और दोस्तों में मिठाईयां बांटते हैं.

ये भी पढ़ें- समंदर के नीचे इस आलीशान घर में मनाएं दिवाली, एक रात के खर्च करने होंगे इतने रुपये

जापान में दिवाली की तरह ही ओनियो फेयर फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है. यहां इस फेस्टिवल को को जनवरी में मनाया जाता है. ये फेस्टिवल जापान का सबसे पुराना फेस्टिवल है. यहां फुकुओका में दिवाली जैसा प्रकाशमयी त्योहार धूमधाम से मनता है. इस दौरान छह मशाल जलाई जाती हैं जो कि आपदा को खत्म करने के प्रतीक के रूप में होती हैं. इसमें आग की बत्ती को मंदिर से निकाल कर दूसरी जगह तक ले जाया जाता है. इस दिन जापान के लोग खास तरह के सफेद कपड़े पहनकर टॉर्च को घुमाते हैं.  इस दौरान लोग कई तरह के हैरतअंगेज करतब दिखाते हैं. जिसे शुभ माना जाता है.

ये भी पढ़ें- दीपावली पर ऐसे करें मां लक्ष्मी का पूजन, घर में आएगी सुख-समृद्धि, ये है पूजा का शुभ मुहूर्त

यही नहीं फ्लोरिडा के अल्टूना शहर में हर साल 31 अक्टूबर से 1 नवंबर को ‘सैमहेन’ फेस्टिवल मनाया जाता है. इस फेस्टिवल को भूतों के सम्मान में मनाया जाता है. इस दौरान बोन फायर जलाई जाती है. इस दौरान लोग हैरतंगेज कारनामे करते हैं. इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट जाती है और सब जमकर इस का लुत्फ उठाते हैं.

थाइलैंड में भी दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. लेकिन वहां इसे लाम क्रियोंघ के नाम से मनाया जाता है. इस दौरान केले की पत्तियों से बने दीपक और धूप को रात में जलाया जाता है. और भारत में लक्ष्मी पूजा के दौरान पैसा रखने जैसा रिवाज यहां भी किया जाता है. उसके बाद जलते हुए दीप को नदी में बहा दिया जाता है.

ये भी पढ़ें- दीपावली पर घर लाएं ये पांच चीजें, मां लक्ष्मी होंगी प्रसन्न, सालभर नहीं होगी धन की कमी

नेपाल में दिपावली की तर्ज पर तिहार फेस्टिवल मनाया जाता है. लेकिन यहां इस दौरान कुत्तों की पूजा की जाती है. हिंदू समुदाय के लोग पांच दिन के इस फेस्टिवल में एक दिन जानवरों की पूजा करते हैं. इसमें खास तौर पर कुत्ते की पूजा होती है. बहुत से लोग इस मौके पर कौवे और गाय की भी पूजा करते हैं.

दिपावली का त्योहार सिंगापुर में भी मनाया जाता है. इस दौरान यहां स्पेशल बसों पर रंगोली के ट्रेडिशनल डिजाइन बनाए जाते हैं. जो देखने में बहुत खूबसूरत होते हैं. सिंगापुर की दिवाली की तस्वीरें देख ऐसा लगता है. मानो ये भारत का ही नजारा हो. एक पर्व 1605 से मनाया जा रहा है जो कि ब्रिटेन में अलग ही मायना रखता है.

आधी रात आते ही ऑटरी सेंट मैरी शहर रोशनी से प्रज्जवलित हो उठता है. इस फायर फेस्टिवल को हर साल 5 नवंबर को मनाया जाता है. डेवन के दौरान लोग सत्तरह फ्लैमिंग बैरल लेकर रोड पर मार्च करते हैं. झर्राटेदार बैरल और पटाखे हर उम्र के लोगों के हाथ में देखे जाते हैं, जो अंत में शहर के बीचों-बीच एकत्रित होकर बोनफायर भी जलाते हैं.

ये भी पढ़ें- मन को मोह लेंगी दीपावली के मौके पर घर के प्‌रवेश द्वार पर बनीं ये रंगोली

First published: 7 November 2018, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी