Home » धर्म » Ganesh Chaturthi 2018: Special Mantra For Looking Moon Tonight
 

गणेश चतुर्थी 2018: इस मंत्र को बोलते हुए आज रात ऐसे करें चंद्र दर्शन, बनेंगे सब बिगड़े काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 September 2018, 10:39 IST

आज आसमान गणपति बप्पा मोरया...मंगल मूर्ति मोरया के जयघोषों से गूंज रहा है. भगवान गणेश को भोग लगाए जाने वाले मोदक की खुशबू मन को मोह ले रही है. चारों ओर श्री गणपति आरती और भजनों का के सुर कानों को अनंत सुख दे रहे हैं. गणपति के भजन मानो सारे संसार को भक्ति में डुबो देना चाहते हैं. पूरा संसार श्री गणपति जी के स्वागत के लिए तैयार खड़ा. भजनों और भक्तिमय संगीत बप्पा के आगमन की प्रतीक्षा कर रहा है.

भगवान गणपति स्थापना का उत्सव भले ही महाराष्ट्र में अधिक मनाया जाता हो, लेकिन हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले हर व्यक्ति के भगवान गणेश पहले पूज्यनीय है. यही वजह है कि किसी कार्य के शुभारंभ में भगवान गणेश को सबसे पहले भोग लगाया जाता है.

इसीलिए महाराष्ट्र के हर परिवार में हर साल भाद्रपद चतुर्थी को गणपति बप्पा की स्थापना या विराजमान कराया जाता है. उसके दस दिन बाद तक भगवान गणेश हर परिवार के लिए एक खास मेहमान बनकर रहते हैं. इस दौरान भगवान गणेश की कई तरह के मोदक और पकवानों से विशेष खातिरदारी की जाती है. यहां तक कि घर को विशेष रूप से सजाया जाता है तथा पूजा घर को भी नया रूप दिया जाता है.

आज रात इस मंत्र को बोलते हुए देखें चंद्रमा

गणेश चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन नहीं करना चाहिए. गणेश चतुर्थी की रात गणपति जी की आरती से पूर्व गणेश स्तोत्र या गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करना चाहिए. नीची नजर करके चंद्रमा को अर्ध्य दें और इस मंत्र का जाप करें.

वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:! निर्विघ्न कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा !!

साथ ही भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए लिए इस मंत्र का भी जाप करें.

ओम् गं गणपत्ये नम:’ इस मंत्र से भगवान गणेश प्रसन्न हो जाते हैं.

ये भी पढ़ें- गणेश चतुर्थी 2018: ऐसे करें गणपति बप्पा की स्थापना, जानें प्रतिष्ठापना विधि और पूजा का शुभ मुहूर्त

First published: 13 September 2018, 10:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी