Home » धर्म » Gangasagar Know the story of holy land of gangasagar tirth
 

यहां समंदर किनारे रेत में पाया जाता है सोना, जमीन कुरेदकर दबा खजाना खोजते हैं लोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 January 2019, 23:14 IST

हमारे देश में तमाम धार्मिक स्थान है जिनकी लोगों में बहुत आस्था है. इनमें से एक है गंगासागर तीर्थ. गंगासागर तीर्थ पश्चिम बंगाल में स्थित है. हिंदू धर्म में ऐसा माना जाता है कि हर इंसान को जीवन में एक हार गंगासागर तीर्थ के दर्शन जरूर करने चाहिए. इस तीर्थ की सबसे अनोखी बात ये है कि यहां की जमीन में लोगों को सोना भी मिलता है. यहां के स्थानीय निवासी पूरे साल गंगासागर में सोने की खोज करते रहते हैं.

यहां के लोगों के हाथ में एक अनोखा औजार नजर आ जाएगा. जिसे आचोर कहा जाता है. इस औजार से वह सागर तट की रेतीली जमीन खोदते हैं. दिन, हफ्ते या फिर महीने में सोना-चांदी का कोई न कोई सामान उनके हाथ लग जाता है. इनमें मुख्य रूप से जेवर शामिल होते हैं.

दरअसल, मकर संक्राति, माघी पूर्णिमा के साथ कई अन्य धार्मिक उत्सवों के मौके पर यहां आने वाले तीर्थ यात्री गंगासागर के इस पवित्र मिलन स्थल पर आकर पुण्य स्‍नान करते हैं. उनमें से कुछ की अंगूठी, महिलाओं की कानों की बाली, नाक की नथनी इत्यादि पानी में गिर जाते हैं. उसके बाद उनके वो खोए महंगे जेवर नहीं मिले.

ऐसी मान्यता है कि गंगासागर अपने पास दूसरे लोगों का कुछ नहीं रखता. सोन-चांदी के ये सारे जेवर सागर की लहरें किनारे पर फेंक देती हैं, जो रेत में दब जाते हैं. उसके बाद स्थानीय लोग यहां की रेत में इन्ही जेवरों को ढूंढना शुरु कर देते हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें रेत में अक्सर अंगूठी, चेन, कान के झुमके जैसे जेवर मिल जाते हैं.

लोगों का कहना है कि मिले हुए जेवरों को वो समुद्र देवता की भेंट समझकर रख लेते हैं और इसके बारे में पुलिस को कोई जानकारी नहीं देते. उनका कहना है कि वैसे भी यह एक तरह से हमारी मेहनत का फल है. अब यह हमारा पेशा है और हमारे जीवन बसर करने का जरिया भी बन गया है.

ये भी पढ़ें- Chandra Grahan 2019: इस दिन होगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, जानिए कहां-कहां देगा दिखाई

First published: 14 January 2019, 23:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी