Home » धर्म » Guru Purnima 2018: Importance and Significance of Guru Purnima Know shubh Muhurat and Puja Vidhi
 

Guru Purnima 2018:क्या है महत्व, मान्यता, पूजा की विधि और शुभ मुहूर्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2018, 15:37 IST

हमारे देश में गुरु पूर्णिमा का विषेश महत्व माना जाता है. हर साल आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष को होने वाली पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहा जाता है. इस बार गुरु पूर्णिमा 27 जुलाई यानी शुक्रवार को पड़ रही है. इस दिन विद्वान अपने गुरुओं की पूजा करते हैं. क्योंकि हर किसी की जिंदगी में गुरु का विशेष महत्व होता है. कहते हैं कि गुरु ही हमें अज्ञानता और अंधकार से बचाता है और सही रास्ता दिखाता है.

बता दें कि आषाढ़ शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन ही महर्षि वेद व्‍यास का जन्‍म हुआ था. महर्षि के सम्‍मान में ही इस पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. महर्षि वेद व्यास को भारत का पहला विद्वान माना जाता है. जिन्होंने हिंदू धर्म के चारों वेदों की व्याख्या की थी. इसलिए इस दिन गुरुओं की पूजा की जाती है. गुरु की पूजा इसलिए भी जरूरी है क्‍योंकि उसकी कृपा से व्‍यक्ति कुछ भी हासिल कर सकता है.

गुरु के बिना ज्ञान की प्राप्‍ति नहीं हो सकती. गुरु को तो भगवान से ऊपर स्थान दिया गया है. पुराने समय में गुरुकुल में रहने वाले विद्यार्थी गुरु पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से अपने गुरु की पूजा-अर्चना करते थे. गुरु पूर्णिमा वर्षा ऋतु में आती है. इस मौसम को काफी अच्‍छा माना जाता है. साथ ही इस मौसम को अध्‍ययन के लिए उपयुक्‍त माना गया है. यही वजह है कि गुरु पूर्णिमा से लेकर अगले चार महीनों तक साधु-संत विचार-विमर्श करते हुए ज्ञान की बातें करते हैं.

गुरु पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त

इस साल गुरु पूर्णिमा की तिथि गुरुवार यानी 26 जुलाई 2018 की रात 11:16 मिनट से शुरू होगी. जो अगले दिन यानी शुक्रवार 27 जुलाई 2018 की रात 1:50 बजे तक रहेगी. गुरु पूर्णिमा के दिन सुबह उठकर स्‍नान करने के बाद स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण करें. फिर घर के मंदिर में किसी चौकी पर सफेद कपड़ा बिछाकर उस पर 12-12 रेखाएं बनाकर व्यास-पीठ बनाएं.

इस मंत्र का करें उच्‍चारण

गुरुपरंपरासिद्धयर्थं व्यासपूजां करिष्ये'. बता दें कि पूजा के बाद अपने गुरु या उनके फोटो की पूजा करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- चंद्र ग्रहण 2018: 27 जुलाई को होगा सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण, भूलकर भी ना करें ये काम

First published: 26 July 2018, 15:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी