Home » धर्म » Janmashtami 2018 : Eating These Food During Fasting Of Shri Krishna Janmashtami For Stay Energetic
 

Janmashtami 2018 : व्रत के दौरान करें इन चीजों का करें सेवन, दिनभर बनी रहेगी एनर्जी

सुहेल खान | Updated on: 2 September 2018, 0:34 IST

भारत में जन्माष्टमी का पर्व बहुत धूमधाम से मनाया जाता है, इस साल जन्माष्टमी 2 सितंबर को मनाई जाएगी. इस दिन कृष्ण भक्त पूरे दिन व्रत करेंगे. इस दौरान उन्हें कई बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं. आज हम आपको व्रत के दौरान खाने वाली चीजों के बारे में बताएंगे. जिन्हें खाकर आप व्रत में भी पूरा दिन खुद को तरोताजा महसूस करेंगे. ये चीजें आपको एनर्जी देंगी और थकान महसूस नहीं होगी. तो चलिए जानते हैं कि व्रत में आपका खान-पान कैसा होना चाहिए और किन लोगों को यह व्रत नहीं रखना चाहिए.

व्रत में इन चीजों को खाएं और रहे एनर्जेटिक

व्रत के दौरान फल और फलों का जूस पीना अच्छा माना जाता है. साथ ही धार्मिक रीति रिवाज के अनुसार भी व्रत में फलों का ही सेवन करना चाहिए. क्योंकि फलों मेंं ऑक्‍सीडेंट, विटामिन सी, फॉलेट, बीटा-कैरॉटिन और दूसरे न्‍यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं जो आपकी बॉडी को ऊर्जा प्रदान करते हैं. साथ ही फलों के सेवन से आपका पाचन तंत्र भी मजबूत रहता है. व्रत के दौरान फल और फलों का जूस पीने से आपको एनर्जी मिलेगी और आप स्वस्थ रहेंगे.

जन्माष्टमी के व्रत के दौरान आप दिन में पानी, फल और दूध का सेवन कर सकते हैं. ऐसे में दूध से बनी ठंडाई आपके लिए बहुत उपयोगी होगी. कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर ठंडाई पेट के लिए बहुत अच्‍छी होती है और इससे आपको तुरंत एनर्जी भी मिलती है.

माना जाता है कि व्रत के एक दिन पहले स्वादिष्ट और पौष्टिक खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. जो आपकी पाचन क्रिया को स्वस्थ्य रखने में सहायक होता है. साथ ही इस दिन अधिक तेल-मसाले वाली चीजें खाने से भी बचना चाहिए. इससे आपको एसिडिटी की शिकायत हो सकती है.

व्रत के दौरान आप पानी पी सकते हैं इसलिए व्रत को दौरान खूब पानी पीएं. जिससे आपके शरीर के अंदर पानी की कमी ना हो. वहीं अगर अगर आपका निर्जला व्रत कर रहे हैं तो इसके एक दिन पहले तक खूब पानी पीना चाहिए. वहीं व्रत तोड़ने के बाद तली भुनी चीजें का परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे आपकी पाचन क्रिया को नुकसान पहंच सकता है. इसलिए व्रत करने के एक-दो दिन बाद तक तली भुनी चीजें ना खाएं. वहीं व्रत खोलते समय हल्की-फुल्की चीजों का ही सेवन करना चाहिए.

बता दें कि व्रत के दौरान शरीर का शुगर लेवल गिर जाता है. इससे नींद आने लगती है और आलस जैसी परेशानी भी हो सकती है. ऐसे में आलस को भगाने के लिए दूध से बनी मिठाइयों का सेवन करें.

ऐसे लोगों को नहीं करना चाहिए व्रत

व्रत रखने के लिए इंसान का स्वस्थ होना बहुत जरूरी होता है. ऐसे में अगर कोई बीमार व्यक्ति व्रत रखे तो उसे और भी समस्या हो सकती है. ऐसे में उन लोगों को व्रत नहीं रखना चाहिए जिनके शरीर में पहले से ही खून की कमी है. या खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो गई हो.

डायबिटीज के मरीजों के लिए भी व्रत रखना सही नहीं माना जाता. क्योंकि व्रत के दौरान पूरे दिन भूखा रहना पड़ता है, ऐसे में भूखे रहने से उन्हें परेशानी हो सकती है. इसलिए डायबिटीज के मरीज भूलकर भी व्रत ना रखें.

हाई ब्लड प्रेशर वाले लोगों को भी व्रत नहीं रखना चाहिए. क्योंकि पूरे दिन भूखे रहने पर हाई बीपी के मरीजों का बॉडी सिस्टम बिगड़ जाता है जिससे उनकी परेशानी और भी बढ़ सकती है. वहीं अगर किसी को हार्ट प्रॉब्लम है तो व्रत रखना सही नहीं है. क्योंकि पूरा दिन भूखा रहने के बाद अचानक खाने से कोलेस्ट्रॉल और बीपी के बढ़ने का खतरा रहता है. जो दिल के मरीजों के लिए घातक हो सकता है.

अगर किसी को किडनी से जुड़ी कोई प्रॉब्लम है तो उन्हें भी व्रत नहीं रखना चाहिए. साथ ही ऐसे मरीज भी उपवास ना रखें जिनकी हाल ही में सर्जरी हुई है. क्यों कि इस दौरान बॉडी को कई सारे मिनरल्स और विटामिन्स की जरूरत होती है जो केवल सात्विक खाने और जूस से प्राप्त नहीं हो सकती. इसलिए हाल-फिलहाल में सर्जरी वाले मरीज भूलकर भी व्रत ना रखें.

ये भी पढ़ें- हिन्दू नववर्ष पर विशेष : हम क्यों भूलते जा रहे हैं विक्रम संवत को

First published: 1 September 2018, 23:53 IST
 
अगली कहानी