Home » धर्म » Janmashtami 2018: Keep This Things On Mind During Krishna Janmashtami Puja
 

Janmashtami 2018: पूजा के दौरान इन बातों का रखें ध्यान, खुश होंगे कान्हा, मिलेगी सुख-समृद्धि

सुहेल खान | Updated on: 1 September 2018, 15:52 IST

2 सितंबर यानी रविवार को देशभर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा. इस दौरान भक्त कृष्ण मंदिर औ र अपने-अपने घरों में पूजा अर्चना करेंगे. भगवान कृष्ण विष्णु के अवतार हैं. ब्रजवासी भगवान कृष्ण को कन्हैया, कान्हा, गोपाल, नंदलाल के अलावा भी कई अन्य नामों से पुकारते हैं.

भगवान कृष्ण की पूजा की भी अपनी विधि है. अगर इस दौरान कुछ जरूरी बातों के ध्यान रखा जाए तो कान्हा प्रसन्न होंगे और भक्तों की मनोकामना पूरी होगा. आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें भगवान कृष्ण बहुत पसंद करते थे और वो चीजें कान्हा के साथ जिंदगीभर जुड़ी रही. जिनके बिना कन्हैया अधूरे हैं.

जन्माष्टमी की पूजा के दौरान इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है. ऐसा करने से भगवान कृष्ण प्रसन्न होंगे और भक्तों की मनोकामना पूरी करेंगे.

माना जाता है भगवान कृष्ण की कुंडली में काल सर्पदोष था, इसलिए कृष्ण मोर मुकुट धारण किया करते थे. जन्माष्टमी की पूजा के दौरान घर के मंदिर या पूजा के स्थान पर विराजमान कृष्ण मूर्ति या चित्र को मोर मुकुट जरूर पहनाएं. इससे श्रीकृष्ण प्रसन्न होंगे.

इन चीजों का लगाएं भोग

भगवान कृष्ण को कुछ चीजों से बेहद लगाव था. जिनमें माखन-मिसरी आदि शामिल हैं. इसलिए जन्माष्टमी के मौके पर कृष्ण को मिसरी का भोग लगाना उत्तम माना जाता है. यही नहीं मिसरी के सेवन से स्वास्थ्य लाभ भी होता है. भगवान कृष्ण को मिसरी का भोग लगाकर मिसरी का ही प्रसाद वितरण करना चाहिए.

इन बातों का रखें विषेश ध्यान

जन्माष्टमी के मौके पर भगवान कृष्ण की पूजा करते वक्त कुछ बातों का विषेश ध्यान रखना चाहिए. क्योंकि भगवान कृष्ण को ये सभी बहुत प्रिय हैं. पूजा-पाठ के दौरान गाय की मूर्ति या चित्र रखना ठीक माना जाता है. क्योंकि भगवान कृष्ण को गायों से अत्यधिक मोह था, कृष्ण के साथ गाय भी पूज्यनीय हैं. इसलिए इस बात का जरूर ध्यान रखें कि, पूजा के दौरान गाय का चित्र या मूर्ति जरूर हो.

बता दें कि गौ पूजा के बिना भगवान कृष्ण की पूजा पूरी नहीं होती. वहीं गौ पूजा करने से धन-दौलत में वृद्धि और घर में समृद्धि आती है.

इनसे अत्यधिक प्रेम करते थे भगवान कृष्ण

भगवान कृष्ण को राधारानी, बांसुरी और गोपियों से अत्यधिक प्रेम था, इसलिए जन्माष्टमी के दिन पूजा के स्थान पर राधारानी, बांसुरी और गोपियों की तस्वीर भी रखनी चाहिए. इससे भगवान कृष्ण खुश होते हैं और भक्तों को मनचाहा वरदान देते हैं.

श्रीमद्भगवत गीता का करें पाठ

जन्माष्टमी के दिन श्रीमद्भगवत गीता का पाठ जरूर करें. गीता भगवान श्रीकृष्ण का जीवन संदेश है इसके पाठ से सभी पापों का नाश होता है और जीवन में शांति आती है.

ये भी पढ़ें- 'अयोध्या' में पूजा-अर्चना के बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरु, इस ट्रस्ट ने उठाया मंदिर बनाने का जिम्मा

First published: 1 September 2018, 15:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी