Home » धर्म » Kedarnath Dham Yatra E-Rikshaw will run from Rudra point ro Kedarnath dham
 

केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को राहत की खबर, अब इतने किमी कम तय करनी पड़ेगी पैदल यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 July 2019, 11:18 IST

केदारनाथ की यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है. क्योंकि अब उन्हें लंबी दूरी तय कर केदारनाथ धाम पहुंचने की जरूरत नहीं पड़ेगी. क्योंकि अब केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को पैदल चलने वाली दो किलोमीटर की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी. क्योंकि जिला प्रशासन ने वैष्णो देवी की तर्ज पर अब केदारनाथ धाम में भी ई-रिक्शा चलाने की तैयारी शुरु कर दी है. इसके लिए जिला प्रशासन और मंदिर समिति ने रुद्रा पॉइंट से मंदिर तक यात्रियों को लाने के लिए ई रिक्शों का इस्तेमाल करने जा रही है.

ई-रिक्शा चलाए जाने के बाद तीर्थ यात्रियों को केदारनाथ धाम पहुंचने के लिए 16 किलोमीटर पैदल नहीं चलना पड़ेगा. क्योंकि अब उन्हें केवल 14 किलोमीटर पैदल चलना पड़ेगा. बता दें कि केदारनाथ धाम में पैदल यात्रा की दूरी कम करने के लिए प्रशासन और मंदिर समिति ने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं. इसके लिए रुद्रा पॉइंट से मंदिर तक ट्रैक बनाने का काम शुरू कर दिया गया है.

ऐसा माना जा रहा है कि अक्टूबर में इस योजना का ट्रायल किया जाएगा और अगर प्रशासन इसमें सफल होता है तो अगले साल जब होने वाली केदारनाथ की यात्रा के दौरान भक्तों को इसका लाभ मिलना शुरु हो जाएगा. ता दें लिनचोली से केदारनाथ धाम तक पहुंचने के लिए तीर्थ यात्रियों को अभी खड़ी चढ़ाई करनी पड़ती है.

ऐसे में तमाम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. यह मार्ग भीमबली से दूसरी ओर की पहाड़ी पर बनाया गया है, जो लिनचोली से रुद्रा प्वॉइंट होते हुए केदारनाथ धाम पहुंचता है. बता दें कि रुद्रा प्वॉइंट से केदारनाथ धाम तक 2 किलोमीटर का रास्ता समतल है, जिससे यहां घोड़े और खच्चरों की से यात्रा करनी पड़ती है.

सावन में क्यों है कांवड़ यात्रा का महत्व, जानें कब से हुई इसकी शुरुआत

First published: 29 July 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी