Home » धर्म » Kumbh Mela 2019 : Know the date and time of shahi snan in prayagraj ardh kumbh
 

Kumbh Mela 2019: प्रयागराज में इन तारीखों को होगा शाही स्नान, जानिए शुभ मुहूर्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2019, 14:10 IST

प्रयागराज में 14 जनवरी मकर संक्रांति से कुंभ मेला का आयोजन शुरु होने जा रहा है. इस अर्ध कुंभ में दुनियाभर से हिंदु धर्म में आस्था रखने वाले श्रद्धालु पहुंचेगे और संगम में डुबकी लगाएंगे. ये अर्धकुंभ मकर संक्रांति से शुरु होकर महाशिवरात्रि तक चलेगा. जो कुल 50 दिनों का होगा. इस दौरान कई शाही स्नान भी होंगे. इस दौरान संगम में डुबकी लगाने वालों की सबसे अधिक भीड़ उमड़ती है.

बता दें कि कुंभ महोत्सव हर चौथे साल नासिक, इलाहाबाद, उज्जैन और हरिद्वार में बारी-बारी से मनाया जाता है. प्रयागराज में गंगा-यमुना और सरस्वती के संगम पर कुंभ महोत्सव आयोजित किया जाता है. हरिद्वार में कुंभ गंगा के तट पर आयोजित किया जाता है.

बता दें कि नासिक में गोदावरी नदी के तट पर कुंभ का आयोजन किया जाता है. वहीं उज्जैन में नर्मदा नदी के किनारे कुंभ महोत्सव का आयोजन किया जाता है. चारों शहरों में होने वाले कुंभ में मेलों में दुनियाभर से श्रद्धालु आते हैं और यहां आकर स्नान करते हैं. लेकिन इन सब में प्रयागराज यानि इलाहाबाद कुंभ से सबसे अधिक महत्व है.

क्योंकि इसके पीछे कुछ आध्यात्मिक कारण हैं. ऐसा माना जाता है कि प्रयागराज में होने वाला कुंभ प्रकाश की ओर ले जाता है, यह एक ऐसा स्थान है जहां बुद्धिमत्ता का प्रतीक सूर्य का उदय होता है. बता दें कि जिस स्थान पर कुंभ मेले का आयोजन होता है उसे ब्रह्माण्ड का उद्गम और पृथ्वी का केंद्र माना जाता है.

ऐसी मान्यता है कि ब्रह्माण्ड की रचना से पहले ब्रम्हा जी ने यहीं अश्वमेघ यज्ञ किया थाहिंदू धर्म के अनुसार मान्‍यता है कि किसी भी कुंभ मेले में पवित्र नदी में स्‍नान या तीन डुबकी लगाने से सभी पुराने पाप धुल जाते हैं और मनुष्‍य को जन्म-पुनर्जन्म तथा मृत्यु-मोक्ष की प्राप्‍ति होती है.

ये भी पढ़ें- Kumbha Mela 2019: कुंभ मेले के लिए हुई राजसी तैयारियां, लग्जरी टेंट की कीमत जानकार उड़ जाएंगे होश

First published: 10 January 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी