Home » धर्म » Lunar Eclipse 2020: next eclipse will set on 5th July 2020, know the time and importance
 

Lunar Eclipse 2020: अब अगले महीने इस तारीख को लगेगा ग्रहण, जानिए तारीख और समय

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2020, 14:28 IST

Chandra Grahan 2020: कल यानी 21 जून (21st June) को सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) लगा जिसे दुनियाभर (Worldwide) के तमाम देशों में देखा गया, भारत (India) में भी इसका शानदार नजारा देखने को मिला. अब आगामी 5 जुलाई (5th July) को एक बार फिर से ग्रहण (Eclipse) लगने जा रहा है. ये ग्रहण चंद्रमा (Lunar Eclipse) पर लगेगा. इसी के साथ 30 दिनों के अंदर तीन ग्रहण लग जाएंगे. बता दें कि पांच जून को भी चंद्र ग्रहण लगा था. उसके बाद 21 जून को सूर्य और अब 5 जुलाई को फिर से चंद्र ग्रहण लगने वाला है.

ये ग्रहण इस साल का चौथा ग्रहण होगा. और तीसरा चंद्र ग्रहण होगा. पहला चंद्र ग्रहण और ग्रहण 10 जनवरी की रात को लगा था. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, 5 जून से लेकर 5 जुलाई के बीच तीन ग्रहण का लगना शुभ नहीं माना जा रहा है. 5 जून को साल का दूसरा ग्रहण चंद्र ग्रहण के रूप में लगा था. 21 जून को लगा सूर्य ग्रहण सदी का सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण था. इसके ठीक बाद 15 दिन के भीतर ही तीसरा ग्रहण लगने जा रहा है जो साल का चौथा ग्रहण है.


Solar Eclipse 2020: लग गया सूतक काल अब भूलकर भी ना करें ये काम

बता दें कि 5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण शक्तिशाली नहीं होगा, लेकिन जिस तरह से बीते 30 दिनों में तीन ग्रहणों का योग बना है उससे इसके परिणाम शुभ नहीं माने जा रहे हैं. क्योंकि जब एक माह में दो या दो से अधिक ग्रहण लगते हैं तो इनका नकारात्मक प्रभाव पृथ्वी पर दिखाई देता है. इसलिए यह समय बहुत ही संयम के साथ बिताने का है. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, 30 दिन के भीतर 3 ग्रहण का अर्थ अच्छा नहीं माना जाता है. ये ग्रहण आपदा, क्षति, विवाद और हिंसा का भी कारण बन सकते हैं. वहीं खेती और व्यापार के लिए भी ये शुभ नहीं माने जाते हैं.

Solar Eclipse 2020: घर बैठे इन तरीकों से देख सकते हैं सूर्य ग्रहण, यहां होगा लाइव टेलिकास्ट

ज्योतिष के जानकारों का कहना है कि 5 जुलाई चंद्र ग्रहण धनु राशि में लगने जा रहा है. जिस कारण धनु राशि के जातकों की परेशानी बढ़ सकती हैं. इसलिए धनु राशि के जातकों को पूर्व में ही उपाय कर लेने चाहिए. जिससे ग्रहण से होने वाली हानि को कम किया जा सके. बता दें कि 5 जून को लगा चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में लगा था. ग्रहण के समय ज्येष्ठ नक्षत्र था. बता दें कि ये ग्रहण पांच जुलाई की सुबह आठ बजकर 38 मिनट पर शुरु होगा. और ये 09 बजकर 59 मिनट पर अपने चरम पर होगा. वहीं उपच्छाया से अन्तिम स्पर्श 11 बजकर 21 मिनट पर होगा. इस ग्रहण का समय 02 घण्टे 43 मिनट 24 सेकेंड का रहेगा. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, 5 जुलाई को लगने वाले इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा. यानि किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करने की मनाही नहीं होगी. इस ग्रहण के दौरान पूजा पाठ और भोजन आदि से जुड़े कार्यों को किया जा सकेगा.

First published: 22 June 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी