Home » धर्म » Navaratri 2018: 9 days of Devi puja, method of worshipping devi, know the rule list in this navratri
 

Navaratri 2018: मां दुर्गा को रखना है प्रसन्न तो भूल कर भी 9 दिनों तक न करें ये काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2018, 15:33 IST

आज से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो गई है. इन 9 दिनों में देवी की पूजा का ख़ास महत्त्व है. नवरात्र के नौ दिनों में मां दुर्गा के 9 अलग अलग रूपों की साधना की जाती है. नवरात्र के इन पावन नौ दिनों में कुछ महत्वपूर्ण नियमों का पालन करना बहुत जरुरी है. मान्यता के अनुसार नवरात्र के ये दिन साक्षात् देवी के दिन माने जाते हैं. इसीलिए इन 9 दिनों में कुछ कामों को करने की सख्त मनाही होती है.

नवरात्रि में जो व्यक्ति नौ दिन का व्रत रखते हैं उन्हें दाढ़ी-मूंछ और बाल कटवाने की मनाही होती है. हालांकि इन दिनों में बच्चों का मुंडन करवाना शुभ होता है. अधिकतर पूरे नौ दिन का व्रत न रखने वाले लोग भी इन 9 दिनों में दाढ़ी और बल नहीं कटवाते हैं. नवरात्रि के दौरान सात्विक भोजन खाने का प्रावधान है.

इन दिनों में कम मसाले का हल्का भोजन करना चाहिए. नवरात्र के दौरान खाने में प्याज, लहसुन और नॉन वेज बिल्कुल नहीं खाना चाहिए. नौ दिन का व्रत रखने वाल लोग को काले रंग के कपड़े पहनने से परहेज करते हैं. इस दौरान सिलाई-कढ़ाई जैसे काम करने की भी मनाही होती है. नवरात्र के दौरान नाखून काटना भी अशुभ मना जाता है. इसलिए इन 9 दिनों में नाखून काटना वर्जित है.

 

नवरात्रि व्रत के दौरान तम्बाकू या अन्य कोई नशा करना अशुभ माना जाता है. ऐसा कहा जाता है की तम्बाकू चबाने से व्रत का फल नहीं मिलता है. कई जगहों पर नवरात्र के दौरान व्रत रखने वाले लोगों चमड़े की बानी चीज़ों का इस्तेमाल नहीं करते हैं. बेल्ट, चप्पल-जूते, बैग चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

 

जो लोग नवरात्रों में कलश स्थापना करते हैं या माता के आगे अखंड ज्योति जलाते हैं. उन्हें इन नौ दिनों में रात को घर छोड़ कर जाना वर्जित होता है. नवरात्रों के व्रत के दौरान फलाहार करने के भी कुछ नियम होते हैं. यदि व्रत के दौरान आप फलाहार करते हैं तो एक बार में ही फल को खत्म कर देना चाहिए. व्रत के दौरान बार-बार कुछ खाते रहने की मनाही होती है.

First published: 10 October 2018, 11:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी