Home » धर्म » Navratri 2018 : Second Day Of Navratri Chandraghanta Worship
 

Navratri 2018 : ऐसे करें मां चंद्रघंटा की पूजा-अर्चना, हर कामना होगी पूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2018, 10:10 IST

आज शारदीय नवरात्रों का तीसरा दिन है. इस बार पहला और दूसरा नवरात्रि एक ही दिन यानि 10 अक्टूबर बुधवार को ही मनाया गया. इसलिए गुरुवार को मां दुर्गा के तीसरे स्वरूप यानि मां चंद्रघंटा की पूजा अर्चना की जाएगी. देवगुरु ग्रह भी आज तुला से मित्र राशि वृष्च्छिक में जा रहे है.

मां चंद्रघंटा मां दुर्गा का लोकप्रिय अवतार है जिसकी पूजा वैष्णो देवी में की जाती है. शारदीय नवरात्रों में मां दुर्गा महा मंगला बनकर आ गई हैंज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, गुरुवार को चंद्रघंटा देवी की पूजा होगी तो गुरु के कष्टों से भी आराम मिलेगा साथ ही धन की कमी दूर होगी. संतान और पति सुखी होंगे और चंद्रमा कुंडली में बलवान होता है.

मन में शान्ति आएगी. चन्द्रमा स्वाति नक्षत्र और तुला राशि में है. तुला राशि से गुरु भी मित्र राशि वृश्चिक में जा रहे हैं. चंद्र और गुरु दोनों मिलकर सुबह राज योग बना रहे हैं. मां दुर्गा इस राज योग में नौकरी, व्यापार और अच्छी धन की वर्षा का वरदान देंगी. इस दिन माता को सफेद फूल, चंदन सफेद चुन्नी चढ़ाएं और बर्फी का भोग लगाएं.

मां चंद्रघंटा को इन चीजों का लगाएं भोग

चावल और मेवे की खीर चंद्रघंटा देवी को भोग लगाकर बांट दें

रात को इस मंत्र का करें जाप

ॐ चंद्रघंटा देव्यै नमः

चंद्रघंटा देवी की पूजा से लड़ाई झगड़े का नाश होगा और घर में सुख शांति बनी रहेगीबात दें कि पूजा अर्चना के वक्त सबसे पहले घी से दीप -ज्योत जलाएं. फिर कलश में गंगा जल मिला लें. कलश में दूर्वा, सुपारी, सिक्का केसर चावल बेलपत्र डालें. मां चंद्रघंटा को गुड़ का भोग लगाएं. इस दिन दुर्गा सप्तशती का पाठ करना चाहिए. ऐसा करने से नौकरी और व्यापार में बार-बार संकट नहीं आएगा और धन की अकूत वर्षा होगी.

नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा को पीले फूल अर्पित करें. साथ ही मां को मौली रोली चढ़ाएं. दूध, दही, शहद, गुड़ घी का पंचामृत चढ़ाएं और लाल अनार, गुलाब जामुन का भोग लगाएं. फिर जल चढ़ाएं, मीठा पान चढ़ाएं और 21 रूपये की दक्षिणा चढ़ाएं.

ये भी पढ़ें- Navratri 2018 : नवरात्रि के व्रत में चाय-कॉफी पीना आपको कर सकता है बीमार

First published: 11 October 2018, 10:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी