Home » धर्म » Sawan Somwar 2021: First Somwar or Monday of Sawan today on 26 July, know the bad muhurat of worship of Bholenath
 

Sawan 2021: सावन का पहला सोमवार आज, इस समय भूल से भी न करें भोलेनाथ की पूजा करने की गलती

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2021, 9:57 IST
Lord Shiva

First Somwar of Sawan: हिंदू धर्म में सावन महीने को बहुत पवित्र महीना माना जाता है. ये महीने भगवान भोलेनाथ को समर्पित है इसीलिए भोले के भक्त इस महीने का बेसब्री से इंतजार करते हैं. इसके साथ ही सावन के सोमवार का भी खास महत्व होता है. आज यानी 26 जुलाई को सावन का पहला सोमवार है. हिंदू पंचांग के मुताबिक, आज श्रावण कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि भी है. इस दिन भगवान शिव की विधि-विधान से पूजा की जाती है. इसके साथ ही श्रावण मास का पहला सोमवार कुंवारी लड़कियों के लिए भी वरदान माना जाता है.

कहा जाता है कि इस दिन व्रत के अच्छे प्रभाव पड़ते हैं और सुयोग्य वर की प्राप्ति होती है. सावन का महीना भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है. बता दें कि धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक सोमवार का दिन भोलेनाथ को समर्पित होता है. ऐसे में श्रावण मास के दौरान पड़ने वाले सोमवार को शिव भक्त भोलेनाथ की कृपा पाने के लिए व्रत आदि भी रखते हैं. लेकिन सावन के सोमवार के दिन किस वक्त भगवान शिव की पूजा नहीं करनी चाहिए ये बहुत महत्वपूर्ण बात है.


ये सावन के पहले सोमवार का शुभ मुहूर्त-

आज सावन का पहला सोमवार है और आज के लिए सौभाग्य योग सुबह 10 बजकर 40 मिनट का है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, यह योग अपने नाम के अनुरुप भाग्य और वैवाहिक सुख को बढ़ाने वाला है. इसके अलावा सुबह 10 बजकर 26 मिनट तक धनिष्ठा योग रहेगा. उसके बाद शतभिषा योग लग जाएगा.

कैसे करें सावन महीने में भोलेनाथ की पूजा

सावन के महीने के दौरान सुबह जल्दी उठ जाएं और स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद साफ कपड़े पहन लें. उसके बाद घर के मंदिर में दीपक जलाएं. सभी देवी-देवताओं का गंगा जल से अभिषेक करें और शिवलिंग पर गंगा जल और दूध चढ़ाएं. उसके बाद भगवान शिव को पुष्प अर्पित करें. इसके साथ ही भगवान शिव के सबसे प्रिय बेल पत्र को भी अर्पित करें. भगवान शिव की आरती करें और भोग भी लगाएं. इस बात का ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है. अगर आप अन्य चीजों का भोज लगाएंगे तो भगवान शिव नाराज हो जाएंगे. भगवान शिव का अधिक से अधिक ध्यान करना भी इस महीने में शुभ माना जाता है.

ये हैं सावन के पहले सोमवार के अशुभ मुहूर्त-

सावन के पहले सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा के समय के साथ-साथ पूजा न करने वाले समय के बारे में भी बताया गया है. सुबह 07 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तक पूजा न करें क्योंकि इस समय राहुकाल रहेगा. वहीं सुबह 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे तक यमगंड होने की वजह से शिव की पूजा नहीं करनी है.

शरीर के इन अंगों पर तिल बनाते हैं आपको धनवान, चमकता है भाग्य !

वहीं दोपहर 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक गुलिक काल रहते हैं जो भोलेनाथ की पूजा के लिए अशुभ है. वहीं दोपहर 12 बजकर 55 मिनट से 01बजकर 49 मिनट तक दुर्मुहूर्त काल है ये काल भी पूजा के लिए उपयुक्त नहीं है. इसके बाद 03 बजकर 38 म‍िनट से 04 बजकर 32 म‍िनट तक भी भोलेनाथ की पूजा करने से बचें. इसके अलावा पूरा दिन पंचक का है. भद्रा काल का समय दोपहर 03 बजकर 24 म‍िनट से 27 जुलाई सुबह 02 बजकर 54 म‍िनट तक रहेगा जो पूजा के लिए शुभ नहीं है.

Guru Purnima 2021: गुरु पूर्णिमा पर ये उपाय करने से बदल जाएगी आपकी किस्मत, ऐसे करें अपने गुरु को नमन

First published: 26 July 2021, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी