Home » धर्म » Surya Grahan 2020: First solar eclipse of this year set on Sunday 21st June
 

Solar Eclipse 2020: रविवार को लगेगा इस साल का पहला सूर्य ग्रहण, ये होगा आप पर असर

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 June 2020, 11:12 IST

Solar Eclipse 2020: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) रविवार यानी 21 जून को लगने जा रहा है. ये सूर्य ग्रहण कई मायनों में खास है. इस सूर्य ग्रहण से लोगों के जीवन पर असर पड़ेगा. अमावस्या (Amawasya) को लगने वाले सूर्य ग्रहण का सूतक काल (Sutak Kal) माना जाएगा. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, यह कंकण आकृति ग्रहण होगा. इसके साथ ही यह ग्रहण सूर्य भगवान (God Surya) के दिन रविवार को लग रहा है. इस लिए इसका महत्व और भी बढ़ जाता है. इस ग्रहण का असर विभिन्न राशियों पर पड़ने वाला है.

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, सूर्य ग्रहण के सूतक काल का विशेष ध्यान रखना चाहिए. यह सूर्य ग्रहण दुनियाभर के कई देशों में दिखाई देगा. साथ ही भारत के कुछ भागों में इस सूर्य ग्रहण का पूर्ण रूप देखने को मिलेगा. बता दें कि ये ग्रहण साल का तीसरा और पहला सूर्य ग्रहण है. इससे पहले पांच जून को चंद्र ग्रहण लगा था. और उससे पहले 10 जनवरी को साल का पहला ग्रहण दिखाई दिया था. जो चंद्रमा पर लगा था. 21 जून के बाद 5 जुलाई को एक बार फिर से ग्रहण लगेगा. वह ग्रहण चंद्रमा पर लगेगा. 30 दिनों के अंदर तीन ग्रहणों के लगने को अशुभ माना जा रहा है.


Solar Eclipse: इस दिन लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, ये होगा आपकी राशि पर असर

ऐसा माना जा रहा है कि ऐसे होने से पृथ्वी पर तमाम प्राकृतिक आपदाएं आएंगी. जो कोरोना वायरस (Corona Virus) के रूप में हमें दिखाई दे रहा है. मौसम वैज्ञानियों की मानें तो 30 जून के बाद दुनियाभर में कई समुद्री तूफान और चक्रवात भी आएंगे. जो पृथ्वी पर विनाश का कारण बन सकते हैं. रविवार 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण सुबह 9 बजकर 16 मिनट पर शुरु होगा. इसका चरम दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर होगा. वहीं इस सूर्य ग्रहण का मोक्ष दोपहर में 3 बजकर 4 मिनट पर होगा. इस ग्रहण का सूतक काल 20 जून यानी शनिवार रात 9 बजकर 15 मिनट से शुरु होगा.

Surya Grahan 2020: एक महीने में दो ग्रहणों को माना जाता है अशुभ, ये होगा आप पर असर

बता दें कि ग्रहण के दौरान सभी मठ और मंदिरों के पट बंद कर दिए जाते हैं. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, ग्रहण के 12 घंटे पहले और 12 घंटे बाद तक के समय को सूतक काल माना जाता है. ज्योतिषियों की मानें तो सूर्यग्रहण में ग्रहण लगने से 12 घंटे पहले ही भोजन कर लेना चाहिए. ग्रहण के दौरान बुजुर्ग, बच्चों, रोगी और गर्भवती महिलाओं को डेढ़ प्रहर चार घंटे पहले तक खा सकते हैं. इसके साथ ही ग्रहण लगने या समाप्त होने के बाद बना हुआ खाना नहीं खाना चाहिए. यानी नया खाना बनाकर खाना चाहिए.

Surya Grahan: सूर्य ग्रहण के बाद ये काम करना होता है शुभ, घर में होती है धन की वर्षा

इसके अलावा अगर सम्भव हो तो ग्रहण के पश्चात् घर में रखा पानी भी बदल देना चाहिए. कहा जाता है ग्रहण के बाद पानी दूषित हो जाता है. ग्रहण के कुप्रभाव से बनी हुई खाने-पीने की वस्तुएं भी दूषित हो जाती है. इन वस्तुओं को दूषित होने से बचाने के लिए सभी खाद्य पदार्थों एवं पीने के जल में तुलसी का पत्ता अथवा कुश डाल दें. वहीं ग्रहण के समय पहने हुए और स्पर्श किए गए वस्त्र आदि अशुद्ध माने जाते हैं. अतः ग्रहण पूरा होते ही पहने हुए कपड़ों समेत स्नान कर लेना चाहिए. ग्रहण से 30 मिनट पूर्व गंगाजल छिड़क के शुद्धिकरण कर लें.

Surya Grahan 2020: बेहद खास है साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानिए महत्वपूर्ण बातें

First published: 17 June 2020, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी