Home » Rio Olympics 2016 » Narsingh is innocent, it's a conspiracy: WFI
 

निर्दोष नरसिंह के साथ साजिश हुई: भारतीय कुश्ती महासंघ

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2016, 15:15 IST

भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्लूएफआई) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए पहलवान नरसिंह यादव के साथ साजिश की संभावना जताई है. उन्होंने नरसिंह का समर्थन करते हुए आरोप लगाया कि सोनीपत के कैंप में कुछ गड़बड़ी हुई है.

सिंह ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "नरसिंह ने अपनी शिकायत में कहा है कि उनके साथ साजिश हुई है. नरसिंह ने एक महिला और एक खिलाड़ी का नाम लिया है.”

नरसिंह को बेकसूर बताते हुए सिंह ने कहा कि 50 से ज्यादा कुश्ती लड़ चुके नरसिंह ने कभी भी डोप टेस्ट देने से मना नहीं किया. डब्लूएफआई अध्यक्ष ने कहा कि कैंप की महिला इंचार्ज पर शक की सुई जाती है. फेडरेशन का आरोप है कि 5 जून को खाने में छौंक लगाते समय प्रतिबंधित दवा डाली गई.

सिंह ने कहा कि जिस दवा के लेने का आरोप नरसिंह पर लगा है उस दवाई का उनका कोई वास्ता नहीं था. उन्होंने कहा कि फेडरेशन अपने नरसिंह के साथ हैं और उन्हें संरक्षण देंगे. उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि नरसिंह ही 74 किलोग्राम भारवर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करें और पदक जीतें.

सिंह ने कहा कि इस मामले में जांच का अधिकार हमारे पास नहीं है. इस पूरे मामले पर गुरुवार को आखिरी फैसला आएगा. उन्होंने उम्मीद जताई है कि नरसिंह को न्याय मिलेगा.

अब नरसिंह के पार्टनर फंसे डोप टेस्ट में

साई सेंटर सोनीपत में पहलवान नरसिंह यादव के कमरे में रहने वाले पहलवान संदीप तुलसी यादव भी डोप टेस्ट में फंस गए हैं. ग्रीकोरोमन में 66 किलोग्राम भार वर्ग में भारत की ओर खेलने वाले संदीप डोप टेस्ट में नाकाम रहे हैं. नरसिंह और संदीप के डोप टेस्ट में फंसने के बाद डब्ल्यूएफआई (भारतीय कुश्ती महासंघ) ने कहा कि इससे शक पक्का हो गया है कि इसमें कोई साजिश हुई है.

भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, "शिविर में नरसिंह के रूममेट को भी उसी पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया, जिससे साफ पता चलता है कि यह साजिश है, दोनों पहलवान रूममेट होने की वजह से एक ही सप्लीमेंट्स ले रहे थे."

इसके अलावा उन्होंने कहा, "उसके नमूने में स्टेरायड की मात्रा काफी ज्यादा मिली है. जिस पर यकीन करना मुश्किल है. लगता है कि जान-बूझकर ऐसा किया गया है. कोई इतना ज्यादा डोज क्यों लेगा." तोमर ने बताया कि डोप टेस्ट में सिर्फ दो ही खिलाड़ी नाकाम हुए हैं.

First published: 25 July 2016, 15:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी