Home » साइंस-टेक » A cancer patient first time receives penis transplant in US
 

अमेरिका में कैंसर पीड़ित मरीज का पहली बार हुआ पेनिस ट्रांसप्लांट

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2016, 8:16 IST

अमेरिका में एक आदमी का पहली बार पेनिस ट्रांसप्लांट (लिंग प्रत्यारोपण) हुआ है. इस आदमी के लिंग को कैंसर की वजह से हटाना पड़ा था.


बोस्टन स्थित मैसाच्युसेट्स जनरल हॉस्पिटल के सर्जन इस आदमी के लिंग के पूर्ण रूप से काम करने की दिशा में जुटे हुए हैं. लिंग प्रत्यारोपण का यह ऑपरेशन एक कार्यक्रम के तहत किया गया ताकि ऐसे इलाज को बेहद आसान और सामान्य बनाया जा सके.

पढ़ेंः जानिए मौत के बाद भी कैसे जिंदा रह सकते हैं आप

इस प्रत्यारोपण के लिए एक मृत डोनर का लिंग लिया गया था. इस माह की शुुरुआत में हुए इस ऑपरेशन में तकरीबन 15 घंटों का वक्त लगा.


द न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक लिंग प्रत्यारोपित करवाने वाले मैसाच्युसेट्स के 64 वर्षीय बैंक कुरियर थॉमस मैनिंग अब बेहतर महसूस कर रहे हैं. हालांकि उन्हें थोड़ा दर्द जरूर है.

massachusetts general hospital.jpg

यह इलाज प्रयोगात्मक ही था लेकिन चिकित्सकों ने इसे "सचेत आशावादी" बताया है. अगर सबकुछ सही रहता है तो कुछ ही सप्ताह में थॉमस मैनिंग सामान्य रूप से मूत्र विसर्जन कर सकेंगे और कुछ माह में यौन संपर्क करने में सक्षम हो जाएंगे.

पढ़ेंः मधुमेह रोगियों को इंजेक्शन से मुक्ति दिलाएगा इंसुलिन पैच

अगर सर्जरी सही से काम करती है तो यह बुजुर्गों के लिए विशेषरूप से मददगार साबित हो सकेगी जिन्हें कई चोटों, दुर्घटना या कैंसर जैसी अन्य बीमारियों से जूझना पड़ता है. 


चिकित्सा दल ने न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया कि उम्मीद है कि इस तकनीक का इस्तेमाल सामान्य मरीजों पर भी किया जाए लेकिन फिर इसे घायल बुजुर्गों पर आजमाया. 

पढ़ेंः जानिए क्या हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक नशे

बता दें कि इसे पहले दिसंबर 2014 में दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सफल पेनिस ट्रांसप्लांट किया गया था. इस दौरान एक ऐसा मरीज शामिल था जिसने खतना के दौरान अपना पेनिस गंवा दिया था. इसके बाद डॉक्टरों की उम्मीद से भी ज्यादा मरीज ने तेजी से रिकवरी की और बीते वर्ष उसकी पत्नी गर्भवती भी हुई.

First published: 18 May 2016, 8:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी