Home » साइंस-टेक » Adhar card information will be given on Facebook too!
 

Facebook पर भी देनी होगी आधार कार्ड की जानकारी!

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 December 2017, 19:37 IST

फर्जी अकाउंट्स पर रोक लगाने और वर्चुअल दुनिया में असल नाम से ही अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के लिए दुनिया के दिग्गज सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Facebook ने भी भारत सरकार की ही तरह एक कदम उठाया है. Facebook ने अब बैंकों, मोबाइल कनेक्शन आदि लेने के लिए जरूरी 'आधार' के इस्तेमाल का परीक्षण शुरू कर दिया है.

Facebook के इस कदम का मकसद इस प्लेटफॉर्म पर जुड़ने वाले नए यूजर्स को अपने असली नाम के साथ सामने लाना है. इस नई पहल को फर्जी अकाउंट्स पर नकेल कसने के उद्देश्य से देखा जा रहा है.

Facebook की मोबाइल साइट 'नेम ऐज पर आधार' यानी आधार के मुताबिक नाम के पॉप अप बॉक्स का परीक्षण कर रही है, जो यूजर्स द्वारा नया अकाउंट बनाते वक्त सामने आएगा. इस दौरान लिखकर सामने आता है, "व्हॉट्स योर नेम? यूजिंग द नेम ऑन योर आधार कार्ड मेक्स इट इजीयर फॉर फ्रेंड्स टू रिकगनाइज यू." यानी "आपका नाम क्या है? आपके आधार कार्ड पर लिखे नाम से दोस्तों के लिए आपको पहचानना आसान हो जाता है." 

आधार कार्ड के साथ नए यूजर के साइन अप करने के परीक्षण को सबसे पहले Reddit और Twitter पर देखा गया. ध्यान देने वाली बात है कि Facebook मोबाइल साइट पर नया अकाउंट बनाते वक्त हर किसी ने इस नए प्रॉम्प्ट (पॉप अप) को नहीं देखा. हमनें भी कोशिश की लेकिन असफल रहे.

हालांकि, गैजेट्स360 वेबसाइट को Facebook के एक प्रवक्ता ने सुनिश्चित किया, "हम यह तय करना चाहते हैं कि लोग जिन नामों से पहचाने जाते हैं उसका ही इस्तेमाल Facebook पर करें, ताकि वे आसानी से अपने मित्रों-परिवार से जुड़ जाएं. यह एक छोटा सा परीक्षण है जिसमें जब लोग अपने नए अकाउंट के लिए साइन अप करते हैं, तो हम अतिरिक्त शब्द लिखकर दिखाते हैं कि वे अपने आधार कार्ड पर लिखे नाम का इस्तेमाल करें ताकि उनके मित्रों को उनकी आसानी से पहचान हो सके. यह एक वैकल्पिक प्रॉम्प्ट है जिसका हम परीक्षण कर रहे हैं, लोगों को जरूरी नहीं है कि वे अपने आधार कार्ड का नाम भरें."

मोबाइल पर Facebook का इस्तेमाल करने वाले बहुत ही कम लोगों को फिलहाल यह संदेश नजर आ रहा है. हालांकि यहां पर यह गौर फरमाने वाली बात है कि Facebook यूजर्स से अपने इस परीक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत आधार कार्ड की जानकारी नहीं मांग रहा है, वह केवल यह कह रहा है कि नए जुड़ने वाले यूजर्स अपने आधार कार्ड पर लिखे नाम का ही इस्तेमाल करें.

इस कदम से आधार कार्ड की निजता से जुड़ा कोई मामला भी नहीं खड़ा होता और न ही आधार कार्ड की जानकारी के दुरुपयोग का. लेकिन आधार कार्ड से जुड़े नाम की मांग करना, एक ऐसी पहल जरूर है जो इस प्लेटफॉर्म से जुड़ने वाले यूजर्स को असल पहचान के साथ सामने आने के लिए प्रोत्साहित करती है.

 भारत में फिलहाल Facebook के पास 24 करोड़ 10 लाख यूजर्स हैं और अमेरिका के बाद सर्वाधिक Facebook यूजर्स के मामले में यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बाजार है.

First published: 27 December 2017, 19:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी