Home » साइंस-टेक » Antiviral drug Remedisvir can be given to corona virus patient: drug regulator
 

Coronavirus: ड्रग रेगुलेटर बॉडी ने कोरोना वायरस मरीजों पर इस दवा के इस्तेमाल को दी मंजूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 June 2020, 9:57 IST

Coronavirus : भारत की शीर्ष ड्रग रेगुलेटरी बॉडी केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) ने सोमवार को कोविड -19 के उपचार के लिए एंटीवायरल दवा रेमेडिसविर के उपयोग को मंजूरी दे दी है. कहा गया है कि रेमेडिसविर क्लिनिकल ट्रायल परीक्षणों में सबसे अधिक महत्व वाली दवाओं में से एक है. कैलिफोर्निया की बायोटेक कंपनी ने दावा किया है कि उसकी प्रायोगिक दवा रेमेडिसविर कोरोना वायरस मरीजों में असर दिखा रही है.

अस्पताल में भर्ती किये गए मरीजों को ये दवा देने पर उनमे सुधार देखा गया. गिलियड साइंसेज ने सोमवार को इसका कुछ विवरण पेश किया लेकिन कहा कि जल्द ही एक मेडिकल जर्नल में इसके परिणाम प्रकाशित किए जाएंगे. रेमेडिसविर एकमात्र उपचार है जो कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करने के लिए लाभकारी है.


Unlock 1: दिल्ली में खुलेंगे सैलून, दुपहिया और चार पहिया वाहनों की सवारियों पर भी हटा बैन 

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की अगुवाई में हाल ही में किए गए एक बड़े अध्ययन में पाया गया कि यह गंभीर बीमारी वाले अस्पताल में भर्ती मरीजों में औसत रिकवरी के समय को 15 दिनों से 11 दिनों तक कम कर सकता है. अध्ययन में लगभग 600 रोगी शामिल थे, जिन्हें निमोनिया था लेकिन उन्हें ऑक्सीजन के सपोर्ट की आवश्यकता नहीं थी. गिलियड ने कहा कि मरीजों में सुधार की संभावना 65 फीसदी से ज्यादा थी.

भारत (India) समेत दुनिया के करीब 15 देश ऐसे हैं जहां संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. अमेरिका, ब्राजील और रूस कोरोना संक्रमितों के मामले में पहले, दूसरे और तीसरे नंबर पर बने हुए हैं. वहीं भारत संक्रमितों की संख्या के मामले में सातवें पायदन पर खड़ा है. दुनिया के 213 देशों में फैल चुके कोरोना वायरस ने अब तक तीन लाख 77 हजार 404 लोगों की जान ले ली है.

कोरोना वायरस का तांडव जारी, दुनियाभर में अब तक तीन लाख 77 हजार लोगों ने तोड़ा दम

First published: 2 June 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी