Home » साइंस-टेक » Bad news for Delhi's bike lovers
 

दिल्ली के बाइकप्रेमियों के लिए बुरी खबर

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 March 2016, 14:30 IST

दिल्ली के बाइक प्रेमियों के लिए बुरी खबर है. इस साल की नई लॉन्च कई बाइकों को दिल्ली के दीवाने अपने नाम नहीं करा पाएंगे. 

दरअसल आगामी एक अप्रैल से दिल्ली में भारत स्टेज-3 (बीएस-3) मानकों वाले दोपहिया वाहनों का रजिस्ट्रेएशन नहीं होगा. दिल्ली सरकार पहली अप्रैल से प्रदूषण कम करने के लिए बीएस-4 मानकों को लागू कर रही है.

पढ़ेंः रॉयल एनफील्ड ने 1.55 लाख रुपये में हिमालयन बाइक लॉन्च की

इस नियम के चलते बीते दो माह में लॉन्च हुई बजाज की मशहूर वी-15 (आईएनएस विक्रांत के लोहे से बनाई गई), रॉयल एनफील्ड हिमालयन, सुजूकी हयाते बाइक्स और सुजूकी एक्सेस स्कूटर का पंजीकरण नहीं हो पाएगा. अलबत्ता दोपहिया ऑटोमोबाइल कंपनियों को इनकी बिक्री भी बंद करनी पड़ेगी.

मालूम हो कि देश भर में दोपहिया वाहनों के लिए बीएस-3 और पैसेंजर वाहनों के लिए बीएस-3 और बीएस-4 नियम लागू हैं. लेकिन पहली अप्रैल से सभी दोपहिया वाहनों को बीएस-4 मानकों का पालन करना जरूरी होगा. परिणामस्वरूप कंपनियों को अपने दोपहिया वाहनों को बीएस-4 में अपग्रेड करना आवश्यक होगा.

पढ़ेंः जी हां, अच्छी भली कारें भी इन दोपहिया की कीमत के सामने पानी भरती हैं

विशेषज्ञों की मानें तो इस नियम के पीछे की प्रमुख वजह दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण में कमी लाना बताया जा रहा है. क्योंकि बीएस-3 मानकों वाले वाहन ज्यादा प्रदूषण फैलाते हैं, इसलिए सरकार ने इन वाहनों पर प्रतिबंध लगाते हुए बीएस-4 वाहनों को लागू करने का फैसला लिया है. 

वहीं, सियाम के मुताबिक बीएस-3 वाले पुराने मॉडल्स के रजिस्ट्रेशन न होने पर कंपनियों को भारी नुकसान होगा. सियाम ने मांग की है कि बीएस-4 के नोटिफिकेशन आने तक इंडस्ट्री के बीएस-3 मॉडलों का रजिस्ट्रेशन किया जाए. दिल्ली में दो पहिया वाहनों की मांग लगातार बढ़ती जा रही है.  बीते वर्ष दिल्ली में 3,78,862 दोपहिया वाहनों की बिक्री हुई थी.

पढ़ेंः जानिए मौत के बाद भी कैसे जिंदा रह सकते हैं आप

First published: 19 March 2016, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी