Home » साइंस-टेक » Black date 1 January 1970 can brick your iPhone, iPad or iPod touch
 

तारीख बदली तो डब्बा बन जाएगा आईफोन-आईपैड

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 15 February 2016, 12:22 IST

आईफोन यूजर्स के लिए एक चौंकाने वाली खबर आई है. इसके मुताबिक अगर आप अपने या अन्य किसी के आईफोन या आईपैड की तारीख को मैनुअल ढंग से एक जनवरी 1970 सेट कर देते हैं, तो यह पूरी तरह से चौपट हो सकता है.

एप्पल के ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस के डेट एंड टाइम सेटिंग्स में का यह बग जिसे "डेट बग" भी कहा जा रहा है, एक ऐसी तकनीकी खामी है जिसकी सूचना तमाम यूजर्स से मिली है. डेट बग से पीड़ित यूजर्स का यह भी कहना है कि इसके बाद आईट्यून्स के जरिये फेल-सेफ रीस्टोर तकनीक भी समस्या दूर करने में बेकार हो गई.

डेट बग से 64-बिट प्रोसेसर और आईओएस 8 या 9 वाले आईफोन, आईपैड और आईपॉड खराब हो रहे हैं. जिनमें आईफोन 5S, 6, 6S व अन्य नए मॉडल्स, आईपैड एयर, आईपैड मिनी 2 और 2015 की छठी पीढ़ी वाले आईपॉड टच या नए वर्जन शामिल हैं.

हालांकि मैनुअल तरीके से आईफोन की तारीख को सेट करना काफी मेहनत भरा है. जिसके लिए कई चरण पूरे करने होते हैं. लेकिन बताया जा रहा है कि कोई हमलावर एक बग के जरिये पब्लिक वाईफाई नेटवर्क का इस्तेमाल कर आईफोन जैसी डिवाइसेज को निशाना बनाकर इन्हें बेकार कर सकता है. 

कई देशों में यूजर्स इससे डरे हुए हैं कि क्या इस तरह से उनका भी मोबाइल बेकार हो सकता है. विशेषज्ञों का कहना है कि यूजर्स इसे ट्राई न करें.

क्या है कारण

हालांकि इस समस्या की मूल कारण का फिलहाल पता नहीं चल पाया है और न ही इसको सुनिश्चित किया गया है. लेकिन बताया जाता है कि जिस तरह से आईओएस में तारीख और समय स्टोर किए जाते है, इसे 1 जनवरी 1970 करने का मतलब होता है कि इसमें जो वैल्यू स्टोर होनी चाहिए वो शून्य (जीरो) हो जाती है. इसकी वजह से समय के आधार (टाइम स्टैंप) पर चलने वाले अन्य सभी  प्रॉसेस फेल हो जाते हैं.

कैसे बच सकते हैं

कहा जा रहा है कि जेलब्रेक आईफोन यूजर्स कई ट्वीक्स का इस्तेमाल करके अपने फोन की डेट को 1970 सेट करने से रोक सकते हैं.

जबकि अन्य यूजर्स बिना अपना फोन स्विच ऑफ किए ऑटोमैटिक टाइम चेंज के विकल्प को बंद कर इससे बच सकते हैं.

पढ़ेंः जानिए कैसे टूटा आईफोन एप्पल दिला सकता है नया फोन

First published: 15 February 2016, 12:22 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी