Home » साइंस-टेक » Chandra Grahan 2020: Why lunar eclipse falling on July 05 is not important in India
 

Chandra Grahan 2020: 05 जुलाई को पड़ने वाले चंद्र ग्रहण का क्यों भारत में नहीं है खास महत्व

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2020, 15:10 IST

05 जुलाई को एक बार फिर से चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है जबकि इसी दिन गुरु पूर्णिमा भी है. ज्योतिषियों के अनुसार ये चंद्र ग्रहण धनु राशि में लगने जा रहा है, जो साल का तीसरा चंद्र ग्रहण है. हालांकि यह ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. जो इस खगोलीय घटना को देखना चाहते हैं, वह ऑनलाइन इसका नजारा देख पाएंगे. 05 जुलाई की चंद्र ग्रहण की शुरुआत सुबह 08 बजकर 38 मिनट पर होगी और ग्रहण की समाप्ति 11 बजकर 21 मिनट पर होगी. दक्षिण एशिया के कुछ हिस्सों सहित अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा. यह 2020 के बाकी चंद्र ग्रहण की ही तरह उपच्छाया चंद्र ग्रहण है. ज्योतिष उपच्छाया चंद्र ग्रहण को सामान्य ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखते हैं.

तुलसी का महत्व 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्र ग्रहण में तुलसी का ख़ास महत्व माना गया है क्योंकि इसमें दोष निवारक शक्ति मानी जाती है. कहा जाता है कि यह नकारात्मक प्रभाव को ख़त्म करता है. लोग तुलसी को अमृत के समान मानते है. यही कारण है कि ग्रहण के दौरान इसके सेवन से ग्रहण के हानिकारक किरणों का प्रभाव ख़त्म हो जाता है. गुरु पूर्णिमा के दिन लगने वाला चंद्रग्रहण भारत में प्रभावशाली नहीं माना जा रहा है. इसका कारण है कि यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण है और यह भारत में नहीं दिखेगा.


2020 के चंद्र और सूर्य ग्रहण

पहला ग्रहणः 10 जनवरी, चंद्र ग्रहण

दूसरा ग्रहणः 5 जून, चंद्र ग्रहण

तीसरा ग्रहणः 21 जून, सूर्य ग्रहण

चौथा ग्रहणः 5 जुलाई, चंद्र ग्रहण

पांचवा ग्रहणः 30 नवंबर, चंद्र ग्रहण

छठा ग्रहणः 14 दिसंबर, सूर्य ग्रहण

एक महीने में यह दूसरा चंद्र ग्रहण है. मान्यताओं के अनुसार 30 दिनों के अंदर दो या दो से ज्यादा ग्रहण का होना शुभ नहीं माना जाता. हालांकि विज्ञान इसे एक सामान्य खगोलीय घटना मानता है. 10 जनवरी 2020 को लगा साल का पहला चंद्रग्रहण भी उपछाया था, जिसका कोई सूतक नहीं था. आमतौर पर ग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले से ही आरंभ माना जाता है.

Chandra Grahan 2020: 5 जुलाई को पड़ने जा रहा साल का आखिरी चंद्रग्रहण इन राशियों के लिए है घातक

 
First published: 3 July 2020, 15:10 IST
 
अगली कहानी