Home » साइंस-टेक » Chinese modular space station Tiangong-1 crash back to Earth
 

विशालकाय चीनी स्पेस स्टेशन गिरेगा धरती पर, कहां गिरेगा-इसको लेकर वैज्ञानिक हैं बेचैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2018, 14:17 IST

एक अनियंत्रित चीनी स्पेस स्टेशन तियांगोंग-1 ('स्वर्ग में राजमहल' ) अपनी कक्षा में लगातार खिसक रहा है. वैज्ञानिकों का मानना है यह 14 घंटे यानी कल तक पृथ्वी पर गिर सकता है. तियांगोंग-1 के धरती पर गिरने को लेकर हर तरफ हलचल का माहौल पैदा हो गया है.

चीन ने तियांगोंग-1 स्पेस स्टेशन को 2011 में लॉन्च किया गया था और इसने पांच साल में अपने मिशन को पूरा कर लिया था. तियांगोंग-1 ने 16 मार्च 2016 को आधिकारिक रूप से डेटा भेजना बंद कर दिया था. वैज्ञानिकों का मनना है कि स्वर्ग का राजमहल कहा जाने वाला तियांगोंग -1, 16,500 मील प्रति घंटे की गति से पृथ्वी पर गिरेगा और वातावरण में खुद को जला देगा.

हालांकि वैज्ञानिक और इंजीनियर अभी इस बात का पता नहीं लगा पाए हैं कि यह 9.4 टन (स्कूल बस-आकार) का यह अंतरिक्ष स्टेशन किस निश्चित समय पर और कहां गिरेगा. इसके गिरने पर नजर रखने वाली अंतरिक्ष प्रयोगशाला एरोस्पेस कॉर्प के अनुसार इसके 31 मार्च और 1 अप्रैल के बीच इसके गिरने की संभावना है.

द यूरोपियन स्पेस एजेंसी का कहना है कि पृथ्वी पर इसका मलबा भूमध्य रेखा पर 43 डिग्री उत्तर से 43 डिग्री दक्षिण के बीच गिर सकता है.

चीन ने साल 2001 में अंतरिक्ष में जहाज भेजना शुरू किया और परीक्षण के लिए जानवरों को इसमें भेजा. इसके बाद 2003 में चीनी वैज्ञानिक अंतरिक्ष पहुंचे. चीन के इस मिशन को 2022 में अंतरिक्ष में मानव स्टेशन स्थापित करने के लक्ष्य का पहला चरण भी माना जाता है. सोवियत संघ और अमरीका के बाद चीन ऐसा करने वाला तीसरा देश था.

First published: 31 March 2018, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी