Home » साइंस-टेक » coronavirus: NASA steps up to fight COVID-19, will build these devices
 

COVID-19 से लड़ने के लिए नासा ने बढ़ाया कदम, इन उपकरणों का करेगा निर्माण

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2020, 15:13 IST

COVID-19 संकट से निपटने में वेंटिलेटर जैसे महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरणों की कमी को दूर करने लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कैलिफोर्निया में एक टास्क फोर्स के साथ मिलकर चिकित्सा उपकरणों बनाने का फैसला किया है, ताकि बीमारी से संक्रमित रोगियों की मदद की जा सके. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने शुक्रवार को कहा कि उसके आर्मस्ट्रांग फ्लाइट रिसर्च सेंटर ने एंटीलोप वैली हॉस्पिटल, लैंकेस्टर शहर, वर्जिन गैलेक्टिक, द स्पेसशिप कंपनी (टीएससी) और एंटीलोप वैली कॉलेज के साथ भागीदारी कर रही है. ताकि चिकित्सा उपकरणों की कमी को पूरा किया जा सके.

कंपनी सबसे पहले प्रोटोटाइप ऑक्सीजन हुड का निर्माण करना चाहती है. नासा ने कहा कि यह अगले हफ्ते 500 के उत्पादन से यह शुरू होगा. नासा के इंजीनियर माइक बटगिएग द्वारा विकसित यह उपकरण COVID-19 रोगियों के लिए एक आक्सीजन देता है. इससे सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि रोगियों को वेंटीलेटर की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. डिवाइस एक लगातार सकारात्मक वायुमार्ग दबाव (सीपीएपी) मशीन की तरह कार्य करता है ताकि ऑक्सीजन को रोगी के कम-कार्यशील फेफड़ों में डाला जा सके.


आर्मस्ट्रांग के मुख्य वैज्ञानिक डेविड ने कहा, "हमने नई प्रणालियों, इनोवेशन, इंजीनियरिंग, डिजाइन के निर्माण में पारंगतता हासिल की है, नासा के ज्ञान और लोगों को एक साथ लाने के लिए सहयोग किया." नासा के इंजीनियर एलन पार्कर और आर्मस्ट्रांग की इस टीम ने एक  कैनोपी डिज़ाइन किया है जो हेल्थ वर्कर को COVID-19 रोगियों का इलाज करते हुए सुरक्षा प्रदान करता है.

दुनिया के लिए लाइलाज बन चुके कोरोना वायरस (Corona Virus) का प्रकोप कम नहीं हो रहा है. कोविड-19 (COVID-19) से दुनियाभर (Worldwide) में अब तक एक लाख 54 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी और 22 लाख से ज्यादा इससे बीमार हो गए हैं. दुनिया की महाशक्ति कहलाने वाले देश अमेरिका (America)आज कोरोना वायरस की मार से बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है. 

coronavirus : क्या है Aarogya Setu ऐप, कैसे करता है काम, PM मोदी ने क्यों कहा इसे डाउनलोड करें ?

First published: 18 April 2020, 15:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी