Home » साइंस-टेक » Coronavirus: This robot is handling all the responsibilities in Kerala, so that doctors remain safe
 

Coronavirus : केरल में ये रोबोट संभाल रहा है सारी जिम्मेदारियां, ताकि डॉक्टर रहें सुरक्षित

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2020, 16:17 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) महामारी के बीच कई स्वास्थ्य कर्मचारियों के संक्रमित होने की खबर है. केरल के एर्नाकुलम के एक सरकारी अस्पताल ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए संक्रमण के जोखिम को कम करने के उद्देश्य से कोरोना वायरस रोगियों को भोजन और दवा परोसने के लिए एक रोबोट तैनात किया है. मलयालम स्टार मोहनलाल के विश्वशांति फाउंडेशन ने एर्नाकुलम सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के COVID-19 वार्ड को रोबोट दान किया है.

एर्नाकुलम के जिला जनसंपर्क विभाग की एक विज्ञप्ति में कहा गया है 'करमी-बॉट' (KARMI-Bot) नाम के रोबोट का इस्तेमाल शनिवार से मेडिकल कॉलेज के COVID-19 आइसोलेशन वार्ड में मरीजों की सहायता के लिए किया जाएगा''. एक रिपोर्ट के अनुसार यह रोबोट ASIMOV रोबोटिक्स द्वारा विकसित किया गया है, जो केरल स्टार्ट-अप मिशन के तहत काम करने वाली कंपनी है.


विज्ञप्ति में कहा गया है  "भोजन, दवा वितरण, रोगियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले कचरे को इकट्ठा करना, कीटाणुशोधन करना, डॉक्टर और रोगियों के बीच वीडियो कॉल सक्षम करना आदि रोबोट की मुख्य जिम्मेदारियां हैं". इस परियोजना का उद्देश्य COVID-19 रोगियों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के बीच बातचीत को कम करना है और साथ ही इसके उपयोग को कम करके पीपीई किट की कमी को दूर करना है. 

इस देश में पड़ा था भयंकर अकाल, इंसान खाने लगे थे इंसानों का मांस

एक बार कॉन्फ़िगर किए जाने के बाद रोबोट अपने कार्यों को पूरी तरह से करने में सक्षम होगा. 25 किलोग्राम तक का पेलोड ले जाने पर रोबोट 1 मीटर प्रति सेकंड की अधिकतम गति प्राप्त करने में सक्षम है. इसमें यूवी आधारित कीटाणुशोधन और लक्षित डिटर्जेंट स्प्रे केआरएमआई-बॉट की अतिरिक्त क्षमताएं हैं.

HRD मिनिस्ट्री ने यूनिवर्सिटीज को लिखा-1918 में भारत ने स्पैनिश फ्लू को कैसे हैंडल किया, इसका पता लगाएं

First published: 25 April 2020, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी