Home » साइंस-टेक » Data Privacy Day: Beware & must know these basic online privacy tips to secure yourself on internet
 

सुरक्षा के लिए हर इंटरनेट यूजर को पता होनी चाहिए यह 7 बातें

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 28 January 2018, 15:41 IST

आज रविवार 28 जनवरी को डाटा प्राइवेसी दिवस मनाया जा रहा है. ऐसे में कम से कम आज के दिन आपको यह जरूर ध्यान रखना चाहिए कि कैसे आप ऑनलाइन अपनी जानकारी और स्वयं को सुरक्षित रख सकते हैं.

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि तकनीकी रोज बदल रही है. ऐसे में जरूरी हो जाता है कि आपका डाटा सुरक्षित रहे, आप सुरक्षित रहें. खुद को अपडेट करना और जागरूक रखना वक्त की जरूरत है. आज के दिन हम आपको कुछ ऐसी आधारभूत बातें बताने जा रहे हैं जिनका इस्तेमाल करने से आप इंटरनेट पर खुद को सुरक्षित रख रख सकते हैं.

1. मजबूत पासवर्ड सबसे ज्यादा जरूरी है

आप मानें या न मानें, लेकिन पासवर्ड आपको इंटरनेट पर सुरक्षित रखने का सबसे बेहतरीन जरिया है. लेकिन यह कमजोरी भी है अगर आपने कमजोर पासवर्ड चुना.

आपका पासवर्ड मजबूत हो, दमदार हो इसके लिए सबको पता जानकारियों यानी नाम, पता, डेट ऑफ बर्थ का कभी इस्तेमाल मत करें. अच्छा होगा अंग्रेजी-हिंदी के मुहावरे चुनें, अनजान लोगों के नाम-पते ले सकते हैं. लेकिन इन्हें पासवर्ड बनाते वक्त इनके कैरेक्टर बड़े-छोटे क्रम में ही लिखें. यानी कैपिटल-स्मॉल लेटर्स, नंबर्स-स्पेशल कैरेक्टर का इस्तेमाल जरूर करें. लंबा और उलझाऊ पासवर्ड आपको खतरे से दूर रखेगा.

समय-समय पर पासवर्ड को बदलना, हर अकाउंट का पासवर्ड एक सा न रखना भी सुरक्षा के  लिए बेहद जरूरी है.

2. अपनी डिवाइस हमेशआ लॉक रखें

आपकी हर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस यानी लैपटॉप, आपका मोबाइल-टैबलेट सभी को सुरक्षित रखना आपकी जिम्मेदारी है. इसके लिए पासवर्ड, पैटर्न, पिन, फेस आईडी, फिंगरप्रिंट स्कैनर जैसे किसी का विकल्प का इस्तेमाल करें. जितनी ज्यादा सुरक्षा बरतेंगे उतने ज्यादा सुरक्षित रहेंगे.

3. हर ऐप को जानिए फिर परमिशन दीजिए

किसी भी ऐप को डाउनलोड करने के बाद इंस्टॉल करने से पहले उसको जानना आपकी जिम्मेदारी है. देखें कि कोई भी ऐप आपके स्मार्टफोन कि क्या जानकारी लेता है. वह आप से कौन-कौन सी परमिशन लेता है. अगर आपको लगता है कि परमिशन नहीं देनी है तो उस ऐप को डाउनलोड मत करें.

इसके अलावा यह भी ध्यान रखें कि आपकी डिवाइस में पुराने ऐप्स जिन्हें आप इस्तेमाल नहीं करते, उन्हें जरूर अनइंस्टॉल कर दें. यह अनयूज्ड ऐप आपके सिस्टम में पड़े-पड़े आपकी डिटेल्स जुटाते रहते हैं. इसलिए हमेशा मतलब भर के ही ऐप्स अपने सिस्टम पर रखें.

4. वाईफाई है बहुत रिस्की

अगली बार वाईफाई ऑन करके पब्लिक कनेक्शन के जरिये इंटरनेट से कनेक्टेड होने से पहले कई बार सोचें. पब्लिक स्पेस का वाईफाई इस्तेमाल करना आपकी सुरक्षा को कमजोर कर देता है. आजकल डाटा की कीमत सस्ती हो गई है, इसलिए खुद का डाटा ही इस्तेमाल करें.

आपको पता होना चाहिए कि पब्लिक वाईफाई कनेक्शन कमजोर होते हैं और यह आसानी से हैक किए जा सकते हैं. बेहतर होगा कि अगर पब्लिक वाईफाई इस्तेमाल करना ही पड़ रहा है तो इस दौरान निजी जानकारी मत डालें. किसी बैंकिंग-महत्वपूर्ण ऑनलाइन अकाउंट में लॉगिन मत करें जिसमें संवेदनशील जानकारी एंटर करनी होती हो.

5. अपडेटेड ऐप्स सबसे ज्यादा जरूरी हैं

हमेशा ध्यान दें कि आपके डिवाइस के किस ऐप या किस सॉफ्टवेयर को अपडेट की जरूरत है. जब भी कभी कोई अपडेट आए तो उसे अपडेट को तुरंत क्लिक करें, देर मत करें. आपके अपडेटेड ऐप, सिस्टम को सुरक्षित बनाते हैं.

लेटेस्ट अपडेट आपको साइबर धमकियों से दूर करते हैं. जो ब्राउज़र-सॉफ्टवेयर पुराने हो चुके हैं वह आप को नुकसान पहुंचा सकते हैं. इसके लिए कंपनियां समय-समय पर अपडेट जारी करती रहती हैं ताकि आप सुरक्षित बनें. इसलिए जैसे ही अपडेट आए उसको तुरंत इंस्टॉल करें.

6. हर चीज ऑनलाइन शेयर मत करें

विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आपकी सारी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध है तो यह आपके लिए खतरा हो सकता है. पूरी जानकारी मत दें. इसके अलावा सोशल मीडिया पर अपनी लोकेशन, अपने अपडेट्स से यह मत जाहिर करें कि आप कहां जा रहे हैं. वैकेशन में हैं तो वापस आने पर ही अपडेट करें. एक बात जान लीजिए कि एक बार इंटरनेट पर आपने जानकारी अपडेट कर दी तो उसको वापस लेना बहुत मुश्किल तकरीबन असंभव है.

7. अपनी सेटिंग्स याद रखें

अपनी डिवाइस जैसे फोन-लैपटॉप और अपने ऐप्स, इन सभी की सेटिंग्स का हमेशा ध्यान रखें. हर ऐप-वेबसाइट की सेटिंग्स को चेक करने का तरीका होता है. अगर आपको नहीं पता तो इंटरनेट पर जांच लें और फिर उसको अपडेट करें. ध्यान रखें कहीं कुछ संवेदनशील जानकारी तो आप दूसरों को नहीं बांट दे रहे हैं.

First published: 28 January 2018, 15:41 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

अगली कहानी