Home » साइंस-टेक » Do get informed whether your company is offering Reliance Jio 4G sim or not
 

पता कीजिए कहीं आपकी कंपनी भी तो नहीं बांट रही रिलायंस जियो सिम

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 6 September 2016, 13:44 IST
QUICK PILL

देश में इस वक्त सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बन चुके रिलायंस जियो सिम को पाने के लिए हर कोई परेशान है. जहां स्टूडेंट कॉलेज बंक करके जियो सिम लेने के लिए लाइन लगा रहे हैं, कॉरपोरेट्स के कर्मचारी भी किसी तरह इसे पाने की कोशिशों में लगे हैं. लेकिन इन सबके बीच रिलायंस जियो ने देश के तमाम कॉरपोरेट्स घरानों को अपनी सेवाएं देने की शुरुआत कर दी है. इसलिए सबसे बेहतर यह रहेगा कि सबसे पहले आप अपनी कंपनी से पता कर लें.

दरअसल रिलायंस जियो की मुफ्त अनलिमिटेड सेवाओं को हर कोई पाने की जुगत में भिड़ा हुआ है. हर रिलायंस डिजिटल, डिजिटल एक्सप्रेस, डिजिटल एक्सप्रेस मिनी स्टोर समेत कई मल्टी ब्रांड स्टोर्स में यह सिम पाने के लिए लोगों की लंबी कतारें लग रही हैं.

रिलायंस जियो: क्या वाकई दुनिया का सबसे सस्ता प्लान दे रही है कंपनी?

अब रिलायंस जियो ने अपने 4जी सिम को प्रीपेड और पोस्टपेड यूजर्स को भी देना शुरू कर दिया है. कोई भी 4जी स्मार्टफोन यूजर इस सिम को पा सकता है, लेकिन इसे पाने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है. 

ऐसे में अगर आप किसी कॉरपोरेट्स, कंपनी, बड़े संगठन या ऐसी ही जगह काम करते हैं, तो इस सिम को लेने के लिए लाइन लगाने से पहले अपने ऑफिस के पर्सनल, एचआर या कम्यूनिकेशन विभाग में जाकर यह जरूर पता कर लें कि कहीं आपके यहां भी तो रिलायंस जियो ने सिम बांटने का काम शुरू तो नहीं कर दिया. 

जानिए कैसे रिलायंस जियो में अपने पुराने नंबर को पोर्ट करें

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कुछ कंपनियों के टॉप मैनेजमेंट से बातचीत करने के बाद रिलायंस ने उनके सभी कर्मचारियों को जियो सिम देने की शुरुआत कर दी है. जबकि कई कंपनियों के यहां उनके मैनेजमेंट से अभी बातचीत चल रही है.

मोबाइल कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कनेक्शन रहते हैं सुरक्षित

रिलायंस से जुड़े एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि किसी भी कंपनी फिर चाहे वो मोबाइल हो, बैंकिंग हो या अन्य कोई सर्विस प्रोवाइडर, के लिए किसी कॉरपोरेट के साथ जुड़कर उसे अपनी सेवाएं सस्ती दरों पर देने की पेशकश पहले से की जाती रही है.

सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों के लिए यह काफी मुनाफे का सौदा होता है, क्योंकि उन्हें एक साथ भारी तादाद में ग्राहक मिल जाते हैं और चूंकि वे किसी कंपनी के कर्मचारी होते हैं इसलिए उनके दस्तावेज गलत होने की भी टेंशन नहीं रहती.

तीन माह का मोबाइल बिल बचाने का मौका

अब ऐसे में जब रिलायंस फिलहाल करीब तीन माह तक मुफ्त अनलिमिटेड 4जी डाटा, कॉलिंग, एसएमएस व ऐप्स के इस्तेमाल की अनुमति दे रहा है, कंपनियों के लिए अपने कर्मचारियों के फोन बिल बचाने का यह सुनहरा मौका है.

वहीं कर्मचारियों के लिए भी यह ऐसा वक्त है, जब वो अपने तीन महीने का डाटा-कॉलिंग-एसएमएस बिल पूरा बचा सकते हैं या फिर काफी कम कर सकते हैं. इस दौरान वे लोग रिलायंस जियो की सेवाओं का भी अनुभव ले लेंगे और आगे के लिए यह कनेक्शन जारी रखना है या नहीं तय कर सकेंगे.

First published: 6 September 2016, 13:44 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी