Home » साइंस-टेक » Do you know WhatsApp will stop supporting which mobile platform
 

जानिए कि आपके मोबाइल पर WhatsApp चलेगा या नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 February 2016, 13:06 IST

ब्लैकबेरी और नोकिया फोन इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी खबर है. तेजी से बढ़ते सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सऐप ने घोषणा की है कि कंपनी इस साल के अंत तक ब्लैकबेरी और नोकिया ऑपरेटिंग सिस्टम को सपोर्ट देना बंद कर देगी.

फेसबुक द्वारा अधिग्रहीत की गई कंपनी व्हाट्सऐप ने अपने ब्लॉग में घोषणा की है कि वो ब्लैकबेरी डिवाइसों को इस साल के अंत तक तकनीकी सपोर्ट देना बंद कर देगी. इसके बाद नोकिया एस40, नोकिया सिंबियन एस60, एंड्रॉयड 2.1 और 2.2 के साथ ही विंडोज फोन 7.1 ऑपरेटिंग सिस्टम्स को इसका सपोर्ट देना बंद कर दिया जाएगा.

ब्लॉग में कंपनी ने कहा, "यह मोबाइल डिवाइसें हमारी कहानी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रही हैं, लेकिन जिस हिसाब से हमें भविष्य में अपने ऐप के फीचर बढ़ाने की जरूरत है, इन डिवाइसों में उस तरह की क्षमता मौजूद नहीं है."

पढ़ेंः लैपटॉप-पीसी कीबोर्ड में 'Pause' और 'Break' बटन क्यों होते हैं

व्हाट्सऐप ने यूजर्स से को सलाह दी है कि वो इस मैसेजिंग सेवा का इस्तेमाल करने के लिए नए स्मार्टफोन ले लें. कंपनी के मुताबिक, "यह हमारे लिए एक कठिन फैसला था लेकिन लोगों को व्हाट्सऐप के जरिये अपने मित्रों, परिजनों, प्रियजनों के साथ नियमित जोड़े रखने के लिए यह सही और जरूरी है. अगर आप भी इस तरह के स्मार्टफोन या डिवाइस इस्तेमाल करते हैं तो हमारी सलाह है कि आप 2016 के अंत तक नए एंड्रॉयड, आईफोन या विंडोज फोन के लिए अपग्रेड कर लें."

"आज की तारीख में 100 करोड़ लोग व्हाट्सऐप इस्तेमाल कर रहे हैं. इसका मतलब कि पृथ्वी पर हर सात में से एक इंसान व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करता है." इससे पहले व्हाट्सऐप ने कहा था कि ब्राजील, रूस और भारत जैसे विकासशील देशों के चलतेे इसकी सेवाओं में काफी उछाल देखा गया था.

पढ़ेंः टेक ऑफ और लैंडिंग के दौरान क्यों खुली रखनी पड़ती है विमान की खिड़की?

गौरतलब है कि फरवरी 2014 में फेसबुक ने इतिहास में सबसे ज्यादा रकम खर्च करते हुए करीब 1273 अरब रुपये में व्हाट्सऐप का अधिग्रहण किया था. फेसबुक पर जारी एक पोस्ट में व्हाट्सऐप के सह संस्थापक जन कौम ने कहा था इस प्लेफॉर्म पर रोजाना 4200 करोड़ मैसेज, 160 करोड़ तस्वीरें और 25 करोड़ वीडियो शेयर किए जाते हैं. 

First published: 29 February 2016, 13:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी