Home » साइंस-टेक » Domestic companies like Micromax, Lyf, Lava, intex challenging Apple-Google in developing Aadhaar enabled phones
 

'आधार' से लैस फोन बनाकर एप्पल-गूगल को चुनौती देने की तैयारी में माइक्रोमैक्स-इंटेक्स जैसी देसी कंपनियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 September 2016, 14:40 IST

गूगल और एप्पल जैसी दुनिया की दिग्गज कंपनियों को 'आधार' रेडी फोन बनाने में दिक्कतें हैं, लेकिन माइक्रोमैक्स, इंटेक्स जैसे देश के दिग्गज ब्रांड अपने स्मार्टफोनों में ऐसी तकनीकी लाकर इन कंपनियों को चुनौती देने की तैयारी में हैं जिनसे केवल यूजर के देखने भर से उनकी पहचान संभव हो जाए.

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक अमेरिकी कंपनी डेल्टा आईडी इंक के सीईओ सलिल प्रभाकर ने बताया कि 'आधार' से लैस फोन बनाने की दिशा में आइरिस रीडिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने के लिए माइक्रोमैक्स, इंटेक्स, लावा और रिलायंस रिटेल के लाइफ ने कंपनी से चर्चा शुरू कर दी है. उनका कहना है कि कुछ चीनी कंपनियां भी इसके लिए अपनी दिलचस्पी दिखा सकती हैं.

अब आंखों के इशारे पर चलेगा आपका स्मार्टफोन

बता दें कि यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने प्रमुख स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ बैठक कर इस बात पर चर्चा की थी कि वे अपने फोनों को आधार से लैस बनाने की दिशा में काम करें ताकि लोग अपनी आधार बायोमैट्रिक्स (आंख, अंगुलियों के निशान) के जरिये फोन पर पहचान पूरी कर सकें ताकि आधार से जुड़ी तमाम सेवाएं मिल सकें.

एप्पल और गूगल जैसी कंपनियों से जुड़े लोगों ने ईटी को बताया कि प्राइवेसी और हैकिंग की संभावना के चलते दोनों कंपनियां अपने सिस्टम में ऐसी तकनीक एंबेड करने के विचार का विरोध कर सकती हैं.

क्या सीटी स्कैन से वाकई कैंसर होता है?

बता दें कि डेल्टा आईडी कंपनी एक्टिव आइरिस तकनीक में विशेषज्ञ है और उनमें से सबसे पहली है जो मोबाइल डिवाइसों को आधार सत्यापन से जोड़ने के लिए भारत के एसटीक्यूसी पर्फारमेंस टेस्टिंग में सफल रही.

प्रभाकर के मुताबिक, "चार कंपनियों से अंतिम दौर की बातचीत चल रही है. हमारी रिलायंस, इंटेक्स, लावा और माइक्रोमैक्स से चर्चा हो रही है. हमें लगता है कि जियोनी, वीवो और ओप्पो जैसे चीनी ब्रांड भी इस तरह की तकनीक के लिए अपनी इच्छा जाहिर कर सकते हैं. भारत में आधार से जुड़े 105 करोड़ लोगों को देखते हुए इसमें काफी संभावना है."

जल्द आने वाला है कलाई में पहनने वाला लचीला फोन

बताया जा रहा है कि इस तकनीक के लिए फोनों में एक विशेष आइरिस कैमरा और एलईडी लगाई जाएगी जिससे आधार से जुड़े बायोमैट्रिक्स का सत्यापन हो सके. बता दें कि फिलहाल सैमसंग ही एक ऐसी कंपनी है जो डेल्टा आईडी की एक्टिव आइरिस तकनीक से लैस है.

First published: 17 September 2016, 14:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी