Home » साइंस-टेक » Driver Killed While Using Tesla’s ‘Autopilot’ Feature
 

टेस्ला की सेल्फ ड्राइविंग कार सेफ नहीं, हाईवे पर ड्राइवर की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2016, 19:50 IST

इलेक्ट्रिक कारें बनाने के लिए मशहूर कंपनी 'टेस्ला' की सेल्फ ड्राइविंग कार से 7 मई को फ्लोरिडा के पास एक सड़क हादसे में जोशुआ डी ब्राउन की मौत हो गई. ब्राउन 'ऑटो पायलट' मोड पर चल रही टेस्ला की कार में बैठे थे, जो हाईवे पर ट्रक से टकरा गई.

यह जानकारी खुद टेस्ला ने दी है. अपने एक बयान में कंपनी ने कहा है कि उसके इलेक्ट्रिक कार में 'ऑटो पायलट' मोड का इस्तेमाल करते हुए एक ड्राइवर की मौत हो गई. इस घटना के बाद यूएस फेडरल हाईवे सेफ्टी रेग्युलेटर्स ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

हालांकि, इस हादसे पर टेस्ला ने अपनी गलती नहीं मानी है. टेस्ला ने कहा है कि ड्राइवरों को 'ऑटो पायलट' सिस्टम को मैनुअली चलाना जरूरी है. 'ऑटो पायलट' लगातार बेहतर हो रहे हैं, लेकिन वे परफेक्ट नहीं हैं और ड्राइवरों को अभी भी अलर्ट रहने की जरूरत है.

टेस्ला ने कहा, "कार एक हाईवे पर जा रही थी, तभी दूसरी तरफ से आ रहे एक ट्रक ने अचानक बायीं ओर टर्न ले लिया जिससे टक्कर हो गई. कार का कैमरा सामने में मुड़ रहे ट्रक की सफेद साइड और खुले आसमान के बीच अंतर नहीं कर पाया. इसी वजह से इसलिए ऑटोमैटिक ब्रेक एक्टिव नहीं हुआ.”

टेस्ला ने कहा कि यह मौत ‘एक अपूर्णीय क्षति’ है. कंपनी ने कहा, ‘‘'ऑटो पायलट' मोड में गाड़ियां 20.9 करोड़ किलोमीटर से ज्यादा दूरी तय कर चुकी हैं. इस मोड में ड्राइविंग के दौरान हुई यह पहली दुर्घटना है. अमेरिका में अाम वाहनों में हर 15.1 करोड़ किलोमीटर पर एक मौत होती है. विश्वभर में हर 9.6 करोड़ मील पर एक मौत होती है."

First published: 1 July 2016, 19:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी