Home » साइंस-टेक » Future of entertainment: one pill will make people hallucinate television shows wherever they are
 

फ्यूचर ऑफ एंटरटेनमेंटः गोली खाओ और कभी भी-कहीं भी टीवी का मजा उठाओ

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 November 2016, 17:37 IST

कभी-कभी आपको भी टेलीविजन पर आ रहे अपने पसंदीदा शो को छोड़कर कहीं जाना या कुछ और करना बुरा लगता होगा. लेकिन जरूरत पड़ने पर अपने मनपसंद शो को छोड़ने के अलावा कोई और चारा नहीं होता. 

लेकिन भविष्य का टेलीविजन शो कुछ ऐसा हो सकता है जिसे आप जब चाहें जहां चाहें देख सकेंगे और इसके लिए आपको बिजली-टेलीविजन-स्मार्टफोन जैसी किसी भी डिवाइस की जरूरत नहीं होगी.

अब आई मच्छरों से निजात दिलाने वाला टीवी

नेटफ्लिक्स के मुखिया रीड हैस्टिंग्स की मानें तो टेलीविजन का भविष्य एक छोटी सी खाई जाने वाली गोली में समा सकता है. यानी आप एक गोली खाएंगे और टीवी शो का मजा उठा सकेंगे. 

कुछ दिन पहले वॉल स्ट्रीट जर्नल के एक कार्यक्रम में रीड ने कहा कि स्ट्रीमिंग टीवी कंपनी को अमेजॉन या अन्य स्ट्रीमिंग सेवाओं से नहीं बल्कि लोगों का मनोरंजन करने के 'फार्मैकोलॉजिकल' तरीकों यानी दवाओं के इस्तेमाल से हो सकता है. 

जानिए कौन सा रंग करता है आपको सबसे ज्यादा खुश

और जैसे फिल्मों और टीवी शो को मनोरंजन के साधनों का बेहतरीन तरीका माना जा रहा है, संभव है कि यह सभी चीजें समय के साथ खत्म ही हो जाएं. यह ठीक उसी तरह है जैसे स्टेज प्रोग्राम और उपन्यास को आज सिनेमा और टेलीविजन ने काफी छोटा कर दिया है, ठीक इसी तरह अब इन दोनों माध्यमों को भी भविष्य में दर्शकों की कम होती दिलचस्पी का सामना करना पड़ सकता है.

उन्होंने आगे कहा कि यह चुनौतियां कहीं से भी और किसी से भी आ सकती हैं. वे स्क्रीन (टेलीविजन या सिनेमा) का एक नया प्रकार नहीं होंगीः "क्या यह वर्चुअल रिएलटी (वीआर) होंगी या गेमिंग या फिर फॉर्मैकोलॉजिकल?" यह संभव है कि आने वाले वर्षों में कोई ऐसी दवा ईजाद हो जाए, जो बिल्कुल नेटफ्लिक्स जैसी स्ट्रीमिंग सेवाओं को देखने के दौरान मिलने वाला अनुभव या मनोरंजन दे. 

सावधान! बहुत ज्यादा टीवी देखना हो सकता है जानलेवा

हॉलीवुड की मशहूर फिल्म द मैट्रिक्स का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि हम कोई एक गोली खा लेंगे जिससे हम उस भ्रमजाल (मायाजाल) में पहुंच जाएंगे और दूसरी गोली खाकर वापस आ जाएंगे.

उन्होंने कहा, "20 या 50 सालों में एक पर्सनलाइज्ड (वैयक्तिक) नीली गोली लेने से आप मनोरंजन की मायावी दुनिया में चले जाएंगे और सफेद गोली आपको पूरी तरह वापस सामान्य रूप में ले आएगी. और अगर इतने वर्षों में इंसान के मनोरंजन का स्रोत दवाएं बन गईं तो हम वाकई बड़ी मुश्किल में फंस जाएंगे."

अब तक आप गलत जगह लगा रहे थे परफ्यूम

हालांकि रीड हैस्टिंग्स ने यह साफ नहीं किया कि क्या नेटफ्लिक्स स्वयं इस तरह की दवाएं बनाने की दिशा में काम कर रही है या नहीं. साथ ही न यह बताया कि वो ऐसी कंपनियों से निपटने के लिए क्या तैयारी कर रही है. 

First published: 3 November 2016, 17:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी