Home » साइंस-टेक » Google Assistant in now available in Hindi, Will understand Namaste & solve your queries
 

जानिए कैसे Google Assistant करता है हिंदी में काम और बात

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 16 March 2018, 14:14 IST
(google )

हिंदीभाषी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए खुशखबरी है. Google Assistant अब आधिकारिक रूप से हिंदी भाषा को सपोर्ट देने लगा है. इसका मतलब कि अब आप अपने Google Assistant से हिंदी में बातचीत करने के साथ सवाल पूछ सकते हैं या अन्य जरूरी काम करा सकते हैं.

Google Assistant का यह सपोर्ट फिलहाल Android 6.0 मार्शमैलो और इससे ऊपर के सभी ऑपरेटिंग सिस्टम्स के लिए जारी किया जा रहा है. यानी एंड्रॉयड नूगा 7.0 और एंड्रॉयड ओरियो 8.0 पर भी गूगल असिस्टेंट हिंदी में चलेगा. वहीं, कंपनी एंड्रॉयड 5.0 लॉलीपॉप, एंड्रॉयड गो और iOS 9.1 या इससे ऊपर के ऑपरेटिंग सिस्टम वाले iPhones के लिए भी जल्द ही Google Assistant हिंदी सपोर्ट जारी करेगी.

कंपनी का यह ताजा अपडेट Google को हिंदी समेत 15 अंतरराष्ट्रीय भाषाओं का सपोर्ट मिलने के बाद सामने आया है. इस साल जनवरी के अंत से गूगल असिस्टेंट के हिंदी में आने की बातें सामने आना शुरू हो गई थीं, क्योंकि उस दौरान इस वॉयस आधारित पर्सनल असिस्टेंट ने यूजर के सवालों के जवाब हिंदी में देने शुरू कर दिए थे.

इससे पहले दिसंबर 2016 में Google Allo को भी एक हिंदी असिस्टेंट मिला था और Google ने Jio Phone में हिंदी और अंग्रेजी भाषा में सपोर्ट करने वाला एक विशेष गूगल असिस्टेंट वर्जन लॉन्च किया था.

जानिए कैसे करें गूगल असिस्टेंट का हिंदी में इस्तेमाल

Google Assistant को हिंदी में एक्सेस करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी डिवाइस (स्मार्टफोन) की भाषा हिंदी सेट करनी होगी. इसके बाद होम बटन को टच और होल्ड करें या फिर 'OK Google' बोलें. अब आपको इस नए अनुभव का लुत्फ उठाने के लिए लेटेस्ट गूगल सर्च ऐप डाउनलोड करना होगा.

इसके अलावा Google ने एक विशेष हिंदी साइट भी बनाई है जहां पर उन हिंदी निर्देशों की जानकारी दी गई है, जिसे Google Assistant ऐप में इस्तेमाल किया जा सकता है.

यहां इस बात पर ध्यान देना जरूरी है कि गूगल यह हिंदी सपोर्ट सक्षम डिवाइसों के लिए सर्वर-साइड अपडेट के रूप में जारी कर रहा है, इसलिए हो सकता है कि आपकी डिवाइस को यह अपडेट मिलने में कुछ वक्त लग जाए.

Google ने दी कड़ी चुनौती

इस नए अपडेट-सपोर्ट के साथ Google ने Amazon Alexa और Apple Siri को कड़ी चुनौती दे दी है. दोनों ही कंपनिययों को अभी हिंदी सपोर्ट देना बाकी है. हिंदी गूगल असिस्टेंट के आने से कंपनी के सामने Google Home स्मार्ट स्पीकर रेंज को लॉन्च करने का भी रास्ता साफ हो गया है.

इसके अलावा इस कदम ने गैर-अंग्रेजीभाषी यूजर्स को Google Assistant का हिंदी में इस्तेमाल करने का मौका दे दिया है.

 

जानिए क्या कर सकता है Google Assistant हिंदी

यूजर अब अपने निजी गूगल वॉयस असिस्टेंट को हिंदी में निर्देश देकर टेक्स्ट मैसेज (एसएमएस) भेज सकते हैं, रिमाइंडर्स से कर सकते हैं या सीधे गूगल असिस्टेंट के जरिये डायरेक्शंस पा सकते हैं.

उदाहरण के रूप में आप Google Assistant से कह सकते हैं, "कल सुबह मुझे सात बजे जगाओ" और गूगल असिस्टेंट आपके स्मार्टफोन में सुबह सात बजे का अलार्म लगा देगा. इसी तरह आप पूछ सकते हैं, "क्रिकेट का स्कोर क्या है?" और ताजा स्कोर हासिल कर सकते हैं.

 

जानिए कैसे काम करता है Google Assistant हिंदी

मशीन लर्निंग आधारित Google Assistant हिंदी की सामान्य भाषा की समझ, कंप्यूटर विजन और यूजर के संदर्भ को समझते हुए सीधे संबंधित सर्च रिजल्ट हिंदी में मुहैया कराता है. यह असिस्टेंट यूजर की प्राथमिकताओं, पसंद-नापसंद को भी सीखता रहता है ताकि व्यक्तिगत अनुभव दे.

इस संबंध में एक विज्ञप्ति जारी कर असिस्टेंट की तकनीकी प्रोग्राम मैनेजर पूर्वी शाह ने कहा, "आपका गूगल असिस्टेंट बिल्कुल हिंदुस्तानी है, यह आपकी मदद करने वाला दोस्त है जो हमारी भाषा बोलता है और उन चीजों को समझता है जिनकी आपको परवाह है, फिर चाहे इसमें बिरयानी बनाने का तरीका हो, लेटेस्ट क्रिकेट स्कोर पाने हों, या नजदीकी एटीएम तक जाने का रास्ता ढूंढ़ना हो. वक्त के साथ इसे हिंदुस्तानियों के लिए ज्यादा कारगर बनाने के लिए, एक्शंस ऑन गूगल डेवलपर प्लेटफॉर्स के जरिये डेवलपर्स और बिजनेसेस अब हिंदी असिस्टेंट के लिए नए कामकाज (एक्शंस) बना सकते हैं. जब कोई एक्शन बन जाएगा, आप केवल 'OK Google, talk to' कहेंगे और सीधे अपने Google Assistant के जरिये वो सेवा या कंटेंट हासिल कर सकेंगे."

First published: 16 March 2018, 14:10 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी