Home » साइंस-टेक » Google launched video calling app 'Duo' to compete with Facetime & Skype
 

फेसटाइम और स्काइपी को टक्कर देने आया गूगल का ड्युओ

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:47 IST

गूगल ने फेसटाइम और स्काइपी जैसे ऐप्स को पीछे छोड़ने के लिए एंड्रॉयड और आईओएस यूजर्स के लिए एक वीडियो कॉलिंग ऐप गूगल ड्युओ को लॉन्च किया है.

तीन माह पूर्व गूगल की आई/ओ कॉन्फ्रेंस में पेश किए गए इस वीडियो कॉलिंग ऐप का मकसद वीडियो कॉलिंग की जटिलता को समाप्त करना है. 

गूगल ग्रुप प्रोडक्ट मैनेजर अमित फ्युले ने इस संबंध में जारी एक बयान में बताया, "किसी के साथ व्यक्तिगत होने की दिशा में वीडियो कॉलिंग अगली सबसे बड़ी चीज है. इसके लिए हमनें इसके इंटरफेस को बेहद साधारण, आसान और स्वागतयोग्य डिजाइन किया है. भारत जैसे देशों के लिए इसे नेटवर्क की कनेक्टिविटी स्थिति के मुताबिक ढल जाने लायक बनाया गया है."

जियोफाई: मुफ्त डाटा ऑफर के साथ रिलायंस की सस्ती 4जी वाईफाई हॉटस्पॉट डिवाइस जल्द

ड्युओ की लॉन्चिंग के साथ ही गूगल ने इसे एंड्रॉयड और आईओएस यूजर्स के लिए रिलीज कर दिया. अगले कुछ ही दिनों में यह दुनिया भर में उपलब्ध होगा. 

इस वीडियो कॉलिंग ऐप की खासियत इसका एंड टू एंड एन्क्रिप्शन है, जिसके जरिये की जाने वाली बातचीत निजता और सुरक्षा के लिहाज से लीक नहीं हो सकती. ड्युओ को इस्तेमाल करने के लिए स्मार्टफोन यूजर्स को बिनी किसी यूजरनेम या अकाउंट के केवल अपना फोन नंबर ही इस्तेमाल करना होता है.

इस ऐप के अंतर्गत नॉक-नॉक का एक नया फीचर है जिसके जरिये यूजर्स को वीडियो कॉल का ऑन्सर देने से पहले ही कॉल करने वाले का लाइव वीडियो दिखाई देगा, ताकि यूजर्स जवाब देने से पहले ही सामने वाले से जुड़ सकें.

नया स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं तो थोड़ा ठहरिये

ड्युओ काफी तेज और विश्वसनीय है और इसके जरिये वीडियो कॉल्स काफी तेजी से होती हैं और धीमे नेटवर्क में भी बेहतर काम करती हैं.

गूगल के मुताबिक, "नेटवर्क कनेक्टिविटी और कंडीशन के हिसाब से यह ऐप बैंडविड्थ जांच लेता है और जरूरत के मुताबिक वीडियो रिजोल्यूशन ज्यादा या कम करता है."

First published: 16 August 2016, 5:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी