Home » साइंस-टेक » Google may release Android O with improved notifications, picture in picture & more features
 

Android 8: होंगे बेहतर नोटिफिकेशंस और पिक्चर इन पिक्चर मोड समेत कई नए फीचर्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 March 2017, 18:49 IST

ताजा खबरों के मुताबिक एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का अगला अपडेट Android O कई नई खूबियों से लैस होगा. इनमें नए तरह का नोटिफिकेशन, एडैप्टिव आइकंस, पिक्चर इन पिक्चर फीचर, ऑटोमैटिक टेक्स्ट कॉपींग समेत कई नए फीचर्स हो सकते हैं.

9to5Google वेबसाइट में छपी रिपोर्ट की मानें तो अगर Google परंपरा निभाता है तो Android O के बीटा वर्जन को Google I/O डेवलपर्स कॉन्फ्रेंस के दौरान पेश किया जा सकता है और इसका फाइनल वर्जन इस साल लॉन्च की जाने वाली Pixel डिवाइस के दौरान किया जाएगा.

रिपोर्ट की मानें तो इस नए एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम में नोटिफिकेशंस बिल्कुल नए तरह के और ज्यादा यूजर फ्रैैंडिली होंगे. अगर बीते साल आई Andromeda लीक को देखें तो संभवता Synced Notifications और बेहतर ऑर्डरिंग को पेश किया जा सकता है.

कथितरूप से Android O में एक्टिव नोटिफिकेशंस के लिए आइकन बैजेस लाए जा सकते हैं. इसका मतलब कि नोटिफिकेशंस के आधार पर ऐप आइकंस बदलते रहेंगे.

 

इसके अलावा ऐप आइकंस भी एडैप्टिव होंगे यानी उदारण के तौर पर तारीख के हिसाब से कैलेंडर ऐप का आइकन बदलता रहेगा. इस अपडेट से iOS स्टाइल के नोटिफिकेशन बैजेस आ सकते हैं.

इस नए एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम की सबसे बड़ी खूबी पिक्चर इन पिक्चर मोड हो सकता है जिसके जरिये आप वीडियो देखने के साथ ही अन्य ऐप्स पर भी काम कर सकते हैं. यानी यूट्यूब की ही तरह आपका वीडियो छोटी स्क्रीन में आने लगेगा और आप अन्य ऐप्स को एक्सेस कर सकते हैं. इसी तरह का फीचर पिछले साल एंड्रॉयड टीवी पर भी जारी किया गया था.

इसके साथ ही 'स्मार्ट टेक्स्ट सेलेक्शन फ्लोटिंग टूलबार विद असिस्टेंट इंटिग्रेशन' भी पिछले माह लीक हुए कॉपी लेस फीचर जैसा ही नजर आता है. इस फीचर के जरिये यूजर्स को कॉपी-पेस्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी और उन्हें अपने आप सजेशंस के रूप में टेक्स्ट दिख जाएगा.

वहीं, क्रोम 57 ऐप जैसा रेस्ट्रिक्टेड बैकग्राउंड एक्टिविटीज फीचर भी लाने की बात कही जा रही है जो बैकग्राउंड में चलने वाले ऐप्स को रोककर बैटरी की खपत को कम करने की खूबी रखता है.

इसके अलावा भी तमाम अन्य नए फीचर्स को गूगल अपने नए एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम में पेश कर सकता है.

First published: 21 March 2017, 18:49 IST
 
अगली कहानी