Home » साइंस-टेक » Government issued notice to tiktok and helo app to reply these queries after complaining swadeshi jagran manch
 

TikTok और Helo एप इसलिए हो सकते हैं बैन, सरकार ने नोटिस भेजकर पूंछे 21 सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2019, 15:00 IST

आने वाले समय में सरकार टिक टॉक और हैलो एप पर शिकंजा कस सकती है. इसी के चलते सरकार ने चीनी सोशल मीडिया एप्स टिकटॉप और हेलो को नोटिस जारी किया है. इस नोटिस में सरकार ने इन दोनों एप्स से 21 सवाल पूछे हैं. साथ ही इन सवालों के सही जवाब ना मिलने की हालत में इन एप्स को बंद किया जा सकता है. बता दें कि इससे पहले RSS से जुड़े संगठन ने रविवार को पीएम मोदी से TikTok और हेलो Helo एप जैसे चीनी सोशल मीडिया एप्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी. उन्होंने आरोप लगाय था कि ये दोनों एप 'राष्ट्रविरोधी' तत्वों के लिए अड्डा बन चुके हैं.

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने यह नोटिस स्वदेशी जागरण मंच की पीएम मोदी से की गई शिकायत के बाद ही जारी किया है. मंत्रालय ने इन दोनों एप से इस आरोप पर भी जवाब मांगा है कि ये एप्स 'राष्ट्रविरोधी' गतिविधियों का अड्डा बन गए हैं. हालांकि टिकटॉक ने कहा है कि वह अगले तीन साल में स्थानीय कम्यूनिटी की जिम्मेदारी के लिये टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने को लेकर 100 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी.

बता दें कि टिक-टॉक और हेलो एप की शिकायत के लिए पीएम मोदी को लिखे पत्र में स्वदेशी जागरण मंच के सह संयोजक अश्विनी महाजन ने लिखा था कि दोनों एप भारत के युवाओं के 'निहित हितों' से प्रभावित होने का माध्यम बन रहे हैं, और हाल के सप्ताहों में 'टिकटॉक' राष्ट्रविरोधी सामग्री का अड्डा बन गया है, जिसे एप पर व्यापक रूप से साझा किया जा रहा है जो हमारे समाज के तानेबाने को नुकसान पहुंचा सकता है.”

स्वदेशी जागरण मंच ने मांग की है कि गृह मंत्रालय देश में 'टिकटॉक' और 'हेलो' सहित अन्य चीनी एप पर प्रतिबंध लगाए. मंच के सह संयोजक ने दावा किया कि 'टिकटॉक' और चीनी सरकार के हस्तक्षेप के गठजोड़ का इस्तेमाल भारतीय नागरिकों के निजी जीवन तक पहुंच बनाने और देश में 'सामाजिक उथल-पुथल उत्पन्न करने' के लिए किया जा सकता है.

Apple Smart Watch ने पानी में डूबते शख्स की ऐसे बचाई जान

First published: 18 July 2019, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी