Home » साइंस-टेक » India's 17th communication satellite GSAT-17 successfully launched
 

ISRO की उड़ान: 17वें कम्युनिकेशन सैटेलाइट GSAT-17 का सफल प्रक्षेपण

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2017, 11:28 IST

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने कामयाबी की एक और उड़ान भरी है. गुरुवार को देश के 17वें कम्युनिकेशन सैटेलाइट जीसैट-17 को फ्रेंच गुयाना के कौरोऊ से सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया. इसरो जून में अब तक तीन सैटेलाइट प्रक्षेपित कर चुका है. 3477 किलो के जीसैट-17 के सफल प्रक्षेपण के लिए फ्रांस की स्पेस एजेंसी एरियन की मदद ली गई. 

भारतीय समयानुसार सुबह 2 बजकर 29 मिनट पर फ्रेंच गुयाना के यूरोपियन स्पेस पोर्ट आॅफ कोउरु से GSAT-17 को लॉन्च किया गया. यह सैटेलाइट सी-बैंड, एक्सटेंडेट सी-बैंड और एस-बैंड से लैस है. यही नहीं मौसम संबंधी जानकारी हासिल करने के लिए भी GSAT-17 में उपकरण लगे हैं. ख़राब मौसम के दौरान रेस्क्यू ऑपरेशन में भी इससे मदद मिलेगी.

GSAT-17 को लॉन्च करने के लिए भारत के पास वजनी रॉकेट नहीं था, लिहाजा फ्रांस से मदद लेनी पड़ी. अब मार्क-3 के सफल परीक्षण के बाद इसरो आने वाले दिनों में 5 हजार किलो तक के सेटेलाइट्स लॉन्च कर सकेगा. हाल ही में इसरो ने GSAT-19 और कार्टोसैट लॉन्च किया था. कार्टोसैट के साथ 30 और सैटेलाइट का प्रक्षेपण हुआ था.

GSAT-17 को ब्रॉडकास्टिंग और टेलीफोन सेवाओं के लिए तैयार किया गया है. ये 48 ट्रांसपोंडर GSAT-18 की तरह है. GSAT-17 का निर्माण बेंगलुरु के इसरो सैटेलाइट सेंटर में हुआ है. एरियरस्पेस के मुताबिक ये भारत का 21वां सैटेलाइट है जो उनके द्वारा लॉन्च हुआ है. इसरो का अगला 5000 किलो का GSAT-11 भी वहीं से लॉन्च होगा.

इसरो ने भी GSAT-17 की सफल लॉन्चिंग के बारे में जानकारी देते हुए ट्वीट किया है.

First published: 29 June 2017, 11:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी