Home » साइंस-टेक » Hackers sold personal information of crores of Facebook users after zoom app: report
 

Zoom App के बाद हैकर्स ने बेची करोड़ों फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारी : रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2020, 11:18 IST

एक रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि हैकर्स ने केवल 41,500 (लगभग 500 यूरो) में 267 मिलियन (लगभग 26 करोड़) फेसबुक यूजर्स का डेटा को बेचा है, जिसमें ईमेल पते, नाम, फेसबुक आईडी, जन्मतिथि और फोन नंबर शामिल हैं. हालांकि साइबर रिस्क असेसमेंट प्लेटफॉर्म Cyble के मुताबिक 267 मिलियन फेसबुक यूजर्स के पासवर्ड को हैकर ने सार्वजानिक नहीं किया है.

कंपनी ने एक बयान में कहा "इस स्तर पर हमें इस बात की जानकारी नहीं है कि डेटा पहली बार में कैसे लीक हुआ. यह थर्ड-पार्टी एपीआई (एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस) या स्क्रैपिंग लीक के कारण हो सकता है." चेतावनी दी गई है कि यह यूजर्स का संवेदनशील डाटा है, इसका उपयोग फ़िशिंग और स्पैमिंग के लिए साइबर अपराधियों द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है.


पिछले साल दिसंबर में रिपोर्ट्स सामने आयी थी कि 267 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं के नाम और फोन नंबर ऑनलाइन थे.वेबसाइट कंपेरिटेक पर एक ब्लॉग पोस्ट के अनुसार डेटाबेस को ऑनलाइन हैकर फोरम पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध कराया गया था. साइबल शोधकर्ताओं ने यूजर्स को अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अपनी प्राइवेसी सेटिंग्स को मजबूत करने और ईमेल और टेक्स्ट मैसेज से सावधान रहने को कहा है.

ब्रिटेन स्थित पॉलिटिकल कंसल्टिंग फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका द्वारा 87 मिलियन यूजर्स के डेटा के कारण इस्तेमाल फेसबुक को जांच का सामना करना पड़ा था. संघीय व्यापार आयोग (FTC) ने उल्लंघन फेसबुक पर 5 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया था. सिर्फ फेसबुक ही नहीं, साइबल ने पिछले सप्ताह बताया कि हैकर्स ने जूम  ऐप के जरिये ऑफिस कॉन्फ्रेंस कॉल में शामिल होने वालों के 5 लाख से अधिक क्रेडेंशियल्स डंप कर दिए और उन्हें डार्क वेब पर मुफ्त में दे दिया.

coronavirus : क्या है Aarogya Setu ऐप, कैसे करता है काम, PM मोदी ने क्यों कहा इसे डाउनलोड करें ?

First published: 21 April 2020, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी