Home » साइंस-टेक » Half the world may affect by Myopia 2050
 

साल 2050 तक दुनिया में पांच अरब लोग होंगे 'मायोपिया' की चपेट में

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

वैज्ञानिकों ने इस बात की आशंका जताई है कि साल 2050 तक दुनिया के करीब पांच अरब लोग, यानी लगभग आधी आबादी 'मायोपिया' जैसी घातक बीमारी की चपेट में आ जायेगी.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक वैज्ञानिकों के एक शोध से यह पता चला है कि 'मायोपिया' आंखों में होने वाली ऐसी बीमारी है, जिसमें दूर की नजर धीरे-धीरे कमजोर हो जाती है. ऐसे में लोगों को दूर की चीजें धुंधली दिखाई देने लगती हैं.

आंकड़ों के मुताबिक साल 2000 में अमेरिका में 'मायोपिया' से प्रभावित लोगों की संख्या 90 लाख से बढ़कर साल 2050 में 26 करोड़ तक पहुंचने की आशंका है.

वहीं कनाडा में साल 2000 में यह संख्या 11 लाख थी, जिसके साल 2050 में बढ़कर 66 लाख होने की बात कही जा रही है.

वैज्ञानिकों ने इस बीमारी के फैलने की जो सबसे बड़ा वजह बताई है उनमें लोगों की राजमर्रा की जिंदगी में दूषित वातावरण और लाइफस्टाइल में होने वाले परिवर्तन बड़े कारण हैं. 

इस मामले में ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स के प्रोफेसर कोविन नायडू का कहना है कि 'अगर आप बच्चे को होने वाली इस बीमारी से बचाना चाहते हैं, तो उनका नियमित रूप से हर साल आंखों की जांच जरूर कराएं.

'मायोपिया' के बारे में यह जानकारी शोध पत्रिका ‘ऑपथैल्मोलॉजी’ में प्रकाशित हुई है.

First published: 20 February 2016, 7:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी