Home » साइंस-टेक » Honor 8 Review in Hindi: know special features, pros & cons of latest launch smartphone
 

ऑनर 8 स्मार्टफोन रिव्यूः जानिए कितनी हैं खूबियां और कितनी खामियां

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 14 October 2016, 15:18 IST

चीन की प्रमुख कंपनी हुआवे ने ऑनर ब्रांड के अंतर्गत अपने नए स्मार्टफोन ऑनर 8 को बुधवार को भारत में लॉन्च किया. 29,999 रुपये कीमत वाला यह स्मार्टफोन अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, ऑनर ऑनलाइन स्टोर समेत देश के कई प्रमुख रिटेल आउटलेट्स पर बिक्री के लिए उपलब्ध है.

यह फोन एक ऐसे वक्त में लॉन्च किया गया है जब प्रीमियम सेगमेंट के यूजर्स के सामने कई विकल्प हैं. हाल ही सैमसंग गैलेक्सी नोट 7 के उत्पादन बंद करने की घोषणा के बाद से उस वर्ग में एक खाली स्थान आ गया था. जबकि आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस का यूजर एक अलग वर्ग का ही है.

कमजोर बैटरी और 6 जीबी रैम के साथ वन प्लस 3 लॉन्च

हालांकि गूगल पिक्सल ने गैलेक्सी नोट 7 की रिक्तता को भरने की कोशिश की है और सोनी के लेटेस्ट फ्लैगशिप मॉडल एक्सपीरिया XZ ने भी पिक्सल, नोट 7 और आईफोन 7 से काफी कम कीमत में बेहतरीन फीचर्स वाला फोन लाकर बाजार में अपनी मौजूदगी को बेहतर तरीके से दर्ज कराने की कोशिश की है. 

लेकिन इन सारे घटनाक्रम के बीच ऑनर 8 को पेश किया जाना, कंपनी को फायदा पहुंचा सकता है या नहीं जानने की जरूरत है. कैच ने इस फोन की कीमत, फीचर्स, अन्य फोनों से तुलना के बाद इसके रिव्यू तैयार किए जो आपको बताते हैं कि क्या इसे लेना समझदारी भरा सौदा साबित हो सकता है या नहीं.

आसुस जेनफोन 3: कमजोर बैटरी वाला स्मार्टफोन स्नैपडील पर 21,999 में

कीमत

अगर कीमत के लिहाज से देखें तो ऑनर 8 की टक्कर वन प्लस 3 और आसुस जेनफोन 3 से है. जाहिर है यह दोनों फोन इसे कड़ी टक्कर दे सकते हैं. 

कैमरा

इस प्राइस सेगमेंट में ऑनर 8 ड्युअल कैमरा देता है जो आईफोन 7 प्लस के फीचर्स के बराबर है. हालांकि क्वॉलिटी में भले ही यह आईफोन का मुकाबला न कर सके लेकिन ऑनर सिरीज में लगने वाले सेंसर्स अच्छे होते हैं और ऑनर 8 के मामले में भी ऐसा ही है. 

ड्युअल कैमरे में एक कैमरा ब्लैक एंड व्हाइट जबकि दूसरा आरजीबी तस्वीर क्लिक करके उसे प्रॉसेस कर फाइनल तस्वीर देता है जो जाहिरी तौर पर बेहतरीन ही कही जा सकती है. इसलिए इस कीमत में कैमरा क्वॉलिटी संतुष्ट करती नजर आती है.

स्मार्ट की

ऑनर 8 के रीयर पैनल पर दिया गया फिंगरप्रिंट सेंसर कैमरे के नीचे है. कंपनी का दावा है कि यह केवल 0.4 सेकेंड में ही फोन अनलॉक कर देता है. हालांकि अन्य फिंगरप्रिंट सेंसर वाले फोनों की तुलना में इसका सेंसर थोड़ा अलग और ज्यादा फीचर्स देता है. यानी जब यूजर इसे टच करता है तो इसे प्रेस करने का भी विकल्प है.

इसे स्मार्ट की का नाम इसी लिए दिया गया है क्योंकि यूजर इसे मैन्युअली सेट करके मनपसंद फंक्शंस कर सकता है. जैसे इसे दबाने पर यूजर चाहे तो फ्लैश ऑन कर सकता है, लेफ्ट स्वाइप करके गैलरी, कैमरा ऑन कर सकता है जबकि ऊपर या नीचे स्वाइप  करके नोटिफिकेशन बार को खोल या बंद कर सकता है.

ईएमयूआई 4.1

एंड्रॉयड मार्शमैलो पर आधारित इस स्मार्टफोन में ऑनर द्वारा डेवलप यूजर इंटरफेस ईएमयूआई 4.1 दिया गया है. लिंक + और वाईफाई + जैसे फीचर्स वाला यह इंटरफेस यूजर्स को सबसे बेहतर उपलब्ध सिग्नल और आसान स्विचिंग देता है.

इसका वॉयस कंट्रोल फीचर फोन कहीं गुम या रखकर भूल जाने की स्थिति में इसे खोजने का मौका देता है. जैसे ही यूजर कहता है 'व्हेअर आर यू' तो ऑनर 8 रिंगिंग, वाइब्रेटिंग और एलईडी चमकाना शुरू कर देता है ताकि इसे आसानी से ढूंढ़ा जा सके. इसके अलावा इसमें रिमोट कंट्रोल फंक्शन भी दिया गया है जिससे घरेलू चीजों को ऑपरेट किया जा सके.

बैटरी लाइफ

इस फोन में 5.2 इंच का फुलएचडी (1920X1080 पिक्सल) रिजोल्यूशन एलटीपीएस टच स्क्रीन 2.5डी कर्व्ड डिस्प्ले दिया गया है जबकि इसकी बैटरी की क्षमता 3,000 एमएएच की है. हालांकि यह बहुत ज्यादा पॉवर नहीं  है लेकिन बहुत कम भी नहीं है. 

यह केवल आधे घंटे में 45 फीसदी तक चार्ज हो जाती है. बताया जा रहा है कि एक बार फुल चार्ज होने पर यह पूरे दिन भर मिक्स यूज का मौका देती है. इसका पॉवर सेविंग मोड फुलएचडी डिस्प्ले को एचडी 720 पिक्सल बनाकर इसकी बैटरी खपत कम करता है.

पर्फार्मेंस

हाईसिलिकॉन कीरिन 950 ऑक्टाकोर प्रोसेसेर (4x2.3 गीगाहर्ट्ज एआरएम कॉर्टेक्स ए-72 + 4x1.8 गीगाहर्ट्ज एआरएम कॉर्टेक्स ए53 कोर्स) वाला यह फोन माली-T880 जीपीयू और 4 जीबी रैम के साथ आता है. 

यह आसानी से कई ऐप्स को एक साथ सपोर्ट करता है और कोई परेशानी नहीं देता. हैवी गेम खेलने पर भी यह सही काम करता है. हालांकि कुछ फोरम्स में यह बताया गया कि कैमरे का इस्तेमाल करने पर यह गर्म होता है.

डिजाइन

मेटल बॉडी वाले इस फोन में आगे और पीछे की ओर ग्लास दिया गया है. देखने में यह एक प्रीमियम फोन का लुक देता है लेकिन इसका पिछला ग्लास पैनल इसे फिसलने लायक बनाता है. इसलिए इसका इस्तेमाल सावधानीपूर्वक या फिर फोन कवर के साथ किया जाए तो बेहतर है. 153 ग्राम वजन इसे पकड़ने में हल्का बनाता है.

कनेक्टिविटी

एक ओर रिलायंस जियो ने अपनी सेवाओं को VoLTE आधारित बनाया है लेकिन यह 4जी LTE फोन वोल्टे की सुविधा नहीं देता. जो रिलायंस जियो यूजर्स के लिए इसे एक बेहतर विकल्प नहीं बनाता. हालांकि कंपनी क्या बाद में वोल्टे अपडेट जारी करेगी, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी. इसके अलावा फोन में एफएम रेडियो भी नहीं है.

First published: 14 October 2016, 15:18 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी