Home » साइंस-टेक » How To Protect & Safeguard Your Electronic Gadgets During Rainy Season
 

जानें बारिश के मौसम में इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की सुरक्षा के सात तरीके

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 16 July 2016, 17:13 IST

शहरों में रहने वाले हर व्यक्ति की जिंदगी का आजकल ज्यादातर वक्त इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के आसपास गुजरता है. मानसून आ चुका है और बारिश भी होने लगी है. ऐसे में यह बहुत जरूरी हो जाता है कि हर व्यक्ति अपने इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की सुरक्षा पर पूरा ध्यान दे. इससे न केवल आपके गैजेट्स सुरक्षित रहेंगे, महत्वपूर्ण डाटा, वक्त और पैसों की भी बर्बादी से बचा जा सकता है.

जानिए कैसे बारिश के मौसम में करें अपने गैजेट्स की सुरक्षाः

स्मार्टफोन

आम हो या खास आजकल स्मार्टफोन के बगैर जीवन की कल्पना काफी मुश्किल है. बारिश के मौसम में जब कभी भी आप बारिश का शिकार हो सकते हैं, इनकी सुरक्षा बहुत जरूरी हो जाती है. क्योंकि स्मार्टफोन का खराब होना आपको अपनों से दूर करने के साथ ही आपको कुछ वक्त के लिए दुनिया से भी दूर कर देता है.

गूगल में एंड्रॉयड डेवलपर जॉब के लिए करें आवेदन

विशेष केस-कवर

भले ही आपके स्मार्टफोन पर केस और टैंपर्ड ग्लास लगा हो, लेकिन इसका मतलब यह नहीं की बारिश इसे नुकसान नहीं पहुंचा सकती. स्मार्टफोन में तमाम ऐसे पोर्ट्स होते हैं जिनमें जरा सा भी पानी जाने पर यह बेकार हो जाते हैं. इसलिए बाजार या ऑनलाइन मिलने वाले विशेषरूप से बने वाटरप्रूफ केस काफी फायदेमंद हो सकते हैं. जिनसे न केवल आपका स्मार्टफोन पानी से सुरक्षित रहा है, आपको काम करने की भी सहूलियत देता है.

ब्लूटूथ हेडसेट

स्मार्टफोन को बारिश में सुरक्षित रखने के लिए ब्लूटूथ हेडसेट भी बेहतर विकल्प हो सकता है क्योंकि आप अपने स्मार्टफोन को बिल्कुल सुरक्षित रखते हुए बिना उसे बाहर निकाले ही बातचीत कर सकते हैं और संगीत आदि सुन सकते हैं. इससे आपका स्मार्टफोन पानी के संपर्क में सीधे नहीं आता.

'फ्री' में मिल रहा 4जी स्मार्टफोन, केवल डाटा-कॉल की एक तिहाई कीमत चुकाएं

टैबलेट्स

आजकल स्मार्टफोन के अलावा गेमिंग, ईमेलिंग, रीडिंग, नेट सर्फिंग आदि के लिए टैबलेट का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है. ऐसे में टैबलेट्स के लिए आने वाला विशेष वाटरप्रूफ केस काफी काम का हो सकता है. 

अब हर जगह की तस्वीर नहीं खींच पाएगा आपका मोबाइल कैमरा

यह न केवल बारिश से आपके टैबलेट को बचाएगा, आपको इसका इस्तेमाल करने की भी आजादी देगा. इतना ही नहीं बारिश के अलावा अन्य मौसमों में भी आप इस केस के सहारे पूल, बाथरूम या कहीं पर भी बिना चिंता के इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

लैपटॉप्स

हालांकि स्मार्टफोन-टैबलेट्स के आने से लैपटॉप अब बहुत ज्यादा प्रचलित मोबाइल डिवाइसें नहीं रहीं और लोग इन्हें एक जगह बैठकर ही इस्तेमाल करते हैं. लेकिन कॉलेज-ऑफिस जाने वाले लोग इसे बैग में लाते-ले जाते हैं और बारिश में पानी के संपर्क में आने पर इनके बेकार होने की सबसे ज्यादा संभावना होती है. ऐसे में बारिश के मौसम में इसे सूखा और सुरक्षित रखना बहुत जरूरी है.

रात में बेड पर स्मार्टफोन के इस्तेममाल से हो जाएं सावधान, दो महिलाएं हुई अंधी

इसका एक तरीका तो यह है कि वाटरप्रूफ बैग ले लिया जाए जिससे पानी के अंदर जाने के बावजूद यह भीगेगा नहीं और खराब होने से बच जाएगा.

इन सात बातों का रखें ध्यान

  1. कभी भी बारिश से घर के भीतर जाते ही फोन-टैबलेट्स-लैपटॉप को चार्जिंग में न लगाएं. इससे इनमें नमी जाने का खतरा रहता है. 
  2. जब तक पूरी तरह आश्वस्त न हों कि आपके हाथ, चार्जर या गैजेट्स में बिल्कुल भी नमी नहीं है, इसे चार्जिंग में मत लगाएं.
  3. अपने लैपटॉप में स्क्रीन गार्ड, कीगार्ड, स्लीव्स लगाएं. 
  4. गैजेट्स के बैग में सिलिका जेल पाउच रखने  से नमी आपके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स में नहीं जा पाती. 
  5. अपने सभी गैजेट्स यहां तक की पीसी, टेलीविजन, एमपीथ्री प्लेयर, रेडियो, सीडी-डीवीडी-ब्लू रे प्लेयर, म्यूजिक सिस्टम, कैमरा, वाईफाई राउटर, डॉन्गल आदि को धूलमुक्त रखें और उन्हें सूखे स्थानों पर नमी से दूर रखें.
  6. अपने वीयरेबल्स गैजेट्स मसलन वीआर, स्मार्टवाच को भी बारिश से बचाएं. बारिश का मौसम वीयरेबल्स के लिए नुकसानदायक हो सकता है. इसलिए इन्हें न पहनना ही बेहतर रहेगा.
  7. कभी भी बारिश से आने के बाद तुरंत अपने पॉलीथिन, वाटरप्रूफ कवर में पैक गैजेट्स को न निकालें. सबसे पहले खुद को तौलिये पोछकर हाथ सुखा लें और जब यह सुनिश्चित हो जाए कि आपके हाथ और गैजेट के कवर पर नमी नहीं है, तब ही उसे खोलें.

First published: 16 July 2016, 17:13 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी