Home » साइंस-टेक » ISRO launches PSLV-C38 rocket on a mission to put 31 satellites into orbit from Sriharikota in Andhra Pradesh.
 

ISRO को मिली एक और कामयाबी, PSLV-C38 का किया सफल लॉन्च

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2017, 10:48 IST

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने शुक्रवार को एक और एतिहासिक कामयाबी हासिल की. इसरो ने कार्टोसैट 2 श्रृंखला के उपग्रह और 30 अन्य उपग्रहों को ले जा रहे पीएसएलवी-सी 38 का श्रीहरिकोटा से सफल प्रक्षेपण किया. जिनमें विदेशी नैनो सैटलाइट भी शामिल हैं.

 

पीएसएलवी-सी38 के साथ भेजे जा रहे इन सभी उपग्रहों का कुल वजन करीब 955 किलोग्राम है. यह सेटेलाइट ना सिर्फ भारत के सरहदी और पड़ोस के इलाकों पर अपनी पैनी नजर रखेगा, बल्कि स्मार्ट सिटी नेटवर्क की योजनाओं में भी मददगार रहेगा. इसरो का यह सैटेलाइट 500 किमी से भी ज्यादा ऊंचाई से सरहदों के करीब दुश्मन की सेना के खड़े टैंकों की गिनती कर सकता है. भारत के पास पहले से ऐसे पांच सैटेलाइट मौजूद हैं. 

इन देशों के नैनो सेटेलाइट भी शामिल

पीएसएलवी-सी38 के साथ भेजे जा रहे इन सभी उपग्रहों में भारत के अलावा ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, चिली, चेज गणराज्य, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, लातविया, लिथुआनिया, स्लोवाकिया, ब्रिटेन और अमेरिका समेत 14 देशों के 29 नैनो उपग्रह शामिल हैं. पीएसएलवी-सी38 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के फर्स्ट लॉन्च पैड से प्रक्षेपित किया गया.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) का यह 40वां (पीएसएलवी-सी38) सफर है. 'एक्सएल' विन्यास (ठोस स्ट्रैप-ऑन मोटर्स के इस्तेमाल के साथ) के तौर पर पीएसएलवी की 17वीं उड़ान है.

First published: 23 June 2017, 10:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी