Home » साइंस-टेक » ISRO launches record 20 satellites from Sriharikota
 

इसरो की ऐतिहासिक उड़ान, एक साथ 20 सैटेलाइट का सफल प्रक्षेपण

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2016, 12:47 IST
(एएनआई)

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कामयाबी की एक और ऊंची छलांग लगाई है. आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से पीएसएलवी सी-34 ने एक साथ 20 सैटेलाइट की लॉन्चिंग की.

ऐसा पहली बार है जब एक साथ 20 उपग्रह प्रक्षेपित किए गए हैं. लॉन्च किए गए 20 सैटेलाइट में से 13 अमेरिका के हैं. सुबह 9 बजकर 26 मिनट पर श्रीहरिकोटा से उपग्रहों को एक साथ अंतरिक्ष में भेजकर इसरो ने इतिहास रच दिया है.

कार्टोसैट से धरती की निगरानी 

उपग्रहों के प्रक्षेपण के लिए पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी सी-34) का इस्तेमाल किया गया. 20 उपग्रहों का कुल वजन 1288 किलोग्राम है.

श्रीहरिकोटा से आज लॉन्च हुए इन 20 उपग्रहों में से 13 अमेरिका, तीन भारत और चार उपग्रह कनाडा, जर्मनी और इंडोनेशिया के हैं. इनमें भारत का भू सर्वेक्षण अंतरिक्ष यान कार्टोसैट भी शामिल है.

पढ़ें: ऐतिहासिक पल: इसरो एक साथ 20 सैटेलाइट लॉंन्च करके बनाएगा रिकॉर्ड

इसके अलावा अमेरिकी उपग्रहों में गूगल कंपनी का अर्थ इमेजिंग सैटेलाइट भी शामिल है. भारत का कार्टोसैट अंतरिक्ष से धरती की निगरानी के लिए डिजाइन किया गया है.

इसरो के प्रमुख किरण कुमार का कहना है कि 20 उपग्रहों को अंतरिक्ष में छोड़ना एक तरह से पक्षियों को आसमान में उड़ाने जैसा है. 

2008 में दस सैटेलाइट की लॉन्चिंग

दरअसल, इसरो ने ही 2008 में पहली बार एक साथ 10 सैटेलाइट लॉन्च कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन इसके बाद अमेरिका ने 29 और रूस ने 33 सैटेलाइट एक साथ लॉन्च कर बढ़त बना ली.

इसरो अभी तक 20 अलग-अलग देशों के 57 सैटेलाइट प्रक्षेपित कर चुका है, जिस से देश को 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर की आमदनी हुई है.

सैटेलाइट प्रक्षेपण की खास बातें

  • 26 मिनट की उड़ान में 20 उपग्रह स्थापित
  • भारत के रॉकेट पीएसएलवी की 36वीं उड़ान
  • कनाडा, इंडोनेशिया, जर्मनी और अमेरिका के उपग्रह
  • भारतीय एकैडमिक समुदाय के बनाए दो उपग्रह
  • पहली बार गूगल की कंपनी के लिए एक उपग्रह
  • पीएसएलवी सी-34 का वजन 320 टन, ऊंचाई 44 मीटर
  • 28 अप्रैल 2008 को पीएसएलवी ने 10 उपग्रह छोड़े थे
  • 2013 में अमेरिकी रॉकेट ने एक साथ 29 उपग्रह किए प्रक्षेपित
  • 2014 में रूसी रॉकेट डीएनईपीआर ने 33 उपग्रह किए लॉन्च

पीएम मोदी ने दी बधाई

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस कामयाबी के लिए इसरो को बधाई दी है. पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, "20 सैटेलाइट एक साथ! इसरो लगातार नए अवरोधों को तोड़ रहा है. वैज्ञानिकों को इस ऐतिहासिक सफलता के लिए बहुत-बहुत बधाई."

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "कई साल से हमने दूसरे देशों के अंतरिक्ष अभियान को मदद करने में विशेषज्ञता और क्षमता विकसित की है. ये हमारे वैज्ञानिकों के कौशल का नतीजा है."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट की है. पीएम मोदी ने कहा, "बहुत ही गर्व और खुशी के साथ चमकदार क्षणों का टेलीविजन के जरिए गवाह बना. मैंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के लिए यह तस्वीर खींची है."

First published: 22 June 2016, 12:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी