Home » साइंस-टेक » ISRO plans to send a crew of three to space by 2022, spurred by Prime Minister Narendra Modi’s goal
 

2022 तक 1.4 बिलियन डॉलर खर्च कर भारत अंतरिक्ष में हासिल करेगा एक और बड़ा मुकाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 August 2018, 17:57 IST

भारत 2022 तक एक दल को अंतरिक्ष में भेजने के लिए 1.4 बिलियन डॉलर खर्च करने की योजना बना रहा है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लक्ष्य से प्रेरित है. सरकार के मुताबिक आंध्र प्रदेश के एक श्रीहरिकोटा से तीन अंतरिक्ष यात्रियों के साथ एक मॉड्यूल लॉन्च किया जाएगा, जिससे यात्रियों को पृथ्वी के चारों ओर सात दिन की यात्रा पर ले जाया जाएगा. इसके बाद कैप्सूल गुजरात के पश्चिमी तटीय इलाके के पास अरब सागर में उतरेगा.

 

भारत दुनिया का सबसे सस्ता अंतरिक्ष एक्सप्लोरर माना जाता है और अंतरिक्ष की खोज में अमेरिका, चीन और रूस के अरबपतियों जेफ बेजोस और एलन मस्क से प्रतिस्पर्धा कर रहा है. इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो), देश के नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) के समकक्ष, अगले साल की शुरुआत में चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव के पास उतरने की योजना बना रहा है.

यह योजना अंतरिक्ष में इंसान को भेजने के लिए चौथे स्थान पर पहुंचने के लिए ट्रैक करेगी. साथ ही 15,000 नौकरियों का निर्माण करेगी. इसरो के चेयरमैन के शिवान ने मंगलवार को दिल्ली में कहा कि स्पेस सूट के प्रोटोटाइप, एक क्रू-एस्केप सिस्टम और लाइफ-सपोर्ट सिस्टम पहले ही मौजूद हैं.

First published: 28 August 2018, 17:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी