Home » साइंस-टेक » ISRO’s Heaviest And Most Advaced High Throughput Communication GSAT-11 Satellite Launched Successfully
 

अब पहले से अच्छी मिलेगी आपको इंटरनेट स्पीड, ISRO का GSAT-11 देगा ये सुविधा

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2018, 12:33 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

जल्द ही आपको इंटरनेट की स्लो स्पीड से निजात मिलने वाली है. क्योंकि इसरो का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 आपके इंटरनेट की स्पीड तेज करने में आपकी मदद करेगा. इसके लिए भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने अपना सबसे वजनी सैटेलाइट लॉन्च किया है. इस सैटेलाइट को भारतीय समायनुसार मंगलवार-बुधवार की रात को लॉन्च किया गया. जिसे दक्षिणी अमेरिका के फ्रेंच गुयाना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से लॉन्च किया गया.

बता दें कि इसरो के ये सैटेलाइट करीब 5854 किलो वजन का है. जो देशभर में ब्रॉडबैंड सेवाएं उपलब्ध कराने के अहम भूमिका निभाएगा. बता दें कि ये इसरो का अबतक का सबसे वजनी उपग्रह है.

ये हैं इसरो के GSAT-11 की खासियत

बता दें ये उपग्रह इंटरनेट की स्पीड को पहले से बेहतर करनेगा. इसीलिए इस सैटेलाइट को इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए गेम चेंजर कहा जा रहा है. इस सैटेलाइट के काम शुरू करने के बाद देश में इंटरनेट स्पीड में क्रांति आ जाएगी. GSAT-11 से हर सेकंड 100 गीगाबाइट से ऊपर की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी मिलेगी.

 

भारतीय सैटेलाइन GSAT-11 में 40 ट्रांसपोर्डर कू-बैंड और का-बैंड फ्रीक्वेंसी में है. इसकी सहायता से हाई बैंडविथ कनेक्टिविटी 14 गिगबाइट/सेकेंड डेटा ट्रांसफर स्पीड संभव है. इसी के साथ ये बीम्स को कई बार करने में प्रयोग करने में सक्षम है. इसी के साथ ये पूरे देश के भौगोलिक क्षेत्र को कवर करेगा.

ये भी पढ़ें- 4G सिम पर भी मिल रही है 2G जैसी स्पीड तो अपनाएं ये आसान ट्रिक, तेज चलने लगेगा इंटरनेट

बता दें कि इसरो ने अबतक जितने सैटेलाइट लॉन्च किए गए उनमें ब्रॉड सिंगल बीम का प्रयोग किया जाता था. साथ ही ये इतने ताकतवर भी नहीं होते थे जिससे ये बहुत बड़े क्षेत्र को कवर नहीं कर पाते थे. इसी के साथ GSAT-11 सैटेलाइट में चार उच्च क्षमता वाले थ्रोपुट सैटलाइट हैंजो अगले साल से देश में हर सेकंड 100 गीगाबाइट से ऊपर की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी देगें. ये सैटेलाइट ग्रामीण इलाकों में अच्छी इंटरनेट स्पीड देगा.

ये भी पढ़ें- अब पूरी दुनिया को मुफ्त में मिलेगी Wi-Fi की सुविधा, तेज स्पीड इंटरनेट का उठा सकेंगे फायदा

First published: 5 December 2018, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी