Home » साइंस-टेक » kids using touchscreen and smart phones are going to suffer grip a pencil
 

बच्चे स्मार्टफोन और टचस्क्रीन की वजह से नहीं कर पा रहे हैं पेंसिल का इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 February 2018, 11:37 IST

स्मार्टफोन ने लोगों की जिंदगी में बदलाव जरूर लाया है. लेकिन इसने कई परेशानियां भी बढ़ा दी है. एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करना आपको कई परेशानियां दे सकता है. ब्रिटेन में हुई एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने पाया कि बच्चों के लिए टचस्क्रीन बहुत नुकसानदायक है. इससे उनकी अंगुलियों की मांसपेशियां प्रभावित होती हैं और उन्हें पेन या पेंसिल पकड़ने में मुश्किल आ सकती है.

ये भी पढ़ें- श्रीदेवी की मौत बनी मर्डर मिस्ट्री, उठ रहे हैं बड़े सवाल

टचस्क्रीन से बच्चों के हाथों की क्षमता पर पड़ता है फर्क
ये रिसर्च ब्रिटेन के हार्ट ऑफ इंग्लैंड फाउंडेशन ने विशेषज्ञों ने की है. एनएचएस ट्रस्ट की प्रधान पीडियाट्रिक थेरेपिस्ट और प्रमुख शोधकर्ता सैली पायने के मुताबिक आज स्कूल में जो बच्चे आ रहे हैं उनके हाथों में अक्सर समस्या देखने को मिलती है. अब से 10 साल पहले यह स्थिति नहीं थी. उन्होंने कहा कि पेंसिल पकड़ने या चलाने कि लिए आपकी अंगुलियों की बारीक मांसपेशियों पर पूर्ण नियंत्रण होना चाहिए. यह ऐसा कौशल है जिसे पूरा करने के लिए बच्चों को बहुत ध्यान देने की जरूरत है.

स्मार्टफोन के इस्तेमाल ने प्रभावित किया लिखने का हुनर
लंदन की ब्रूनेल यूनिवर्सिटी में एक रिसर्च क्लिनिक चलाने वाली मेलिसा प्रूंटी बताती हैं कि तकनीक के अत्यधिक इस्तेमाल के चलते कई बच्चों में लिखने का हुनर देर से विकसित हो सकता है. बता दें कि यह क्लिनिक लिखावट समेत बचपन में सीखे जाने वाले अन्य कौशल की जांच करता है.

बच्चों की क्षमता को बनाए रखने के लिए करें ये काम

रिसर्च में शामिल शोधकर्ताओं का कहना है कि पेरेंट्स को अपने बच्चों की क्षमता को प्रभावित होने से रोकने के लिए, उसने साथ ब्लॉक बनाने, खिलौने या रस्सियां खींचने जैसे गेम खेलें. इस तरह के गेम बच्चों की मांसपेशियों को मजबूत करते हैं और उनकी क्षमता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता.

शोधकर्ताओं का मानना है कि पेरेंट्स अपने बच्चों के साथ खुद वक्त बिताएं. वहीं उनके साथ खेलें जिससे उनकी स्थिति में सुधार लाया जा सकता है. अक्सर पेरेंट्स बच्चों को स्मार्टफोन और आईपैड चलाने को दे देते हैं लेकिन वे ये भूल जाते हैं कि इससे समस्या कम नहीं होती बल्कि बढ़ जाती है.

स्मार्टफोन की जगह बच्चों को पकड़ाएं पेंटब्रश

शोधकर्ताओं का कहना है कि स्मार्टफोन और टचस्क्रीन के इस्तेमाल से बच्चों की मांसपेशियों में कम उम्र में ही अकड़न आने लगती है, जिससे वह देर तक पेन या पेंसिल नहीं पकड़ पाते. ऐसे में उनकी क्षमता को बनाए रखेने के लिए उन्हें स्मार्टफोन या टैबलेट से दूर रखें. साथ ही उन्हें पेंटब्रश या क्रेयॉन्स का इस्तेमाल करना सिखाएं. इससे उनकी हाथों की क्षमता का विकास होगा. साथ ही हाथ की मांसपेशियों में मजबूती आएगी.

First published: 27 February 2018, 11:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी